भारत के खिलाफ LAC पर चीन का नया पैंतरा, मार्शल आर्ट ट्रेनर को भेजा लद्दाख

0
78
CHINA

लद्दाख सीमा पर भारत-चीन का तनाव खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। हाल ही में गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प हुई। जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए। इतना नहीं, चीन को भी इस झड़प में भारी नुकसान हुआ। जिसके बाद से ही सीमा पर तनाव और ज्यादा बढ़ गया। एक तरफ दोनों देश की सैन्य स्तर पर बैठकें जारी है। जिसमे तनाव को कम करने की कोशिश की जा रही है लेकिन इन सबके बीच चीन अपने नापाक हथकंडो से बाज नहीं आ रहा। तभी तो सीमा पर चीन की हरकते लगातार जारी है। दरअसल चीन ने अपने 20 मार्शल आर्ट ट्रेनर को तिब्बत भेजा है। जिसकी जानकारी चीनी मीडिया ने दी है।

चीनी मीडिया के मुताबिक, लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल यानी LAC पर चीन, अपनी सेना को ट्रेनिंग देने के लिए 20 मार्शल आर्ट ट्रेनर (China Martial Arts) तिब्बत भेज रहा है। इससे पहले भी चीन ने तिब्बत में मार्शल आर्ट लड़ाकों को भेजा था। जिसके बाद ही 15 जून को सीमा पर दोनों देशों के बीच झड़प का मामला सामना आया। वहीं चीन के इस कदम के बाद भारतीय सेना भी अलर्ट मोड पर है। भारतीय सेना ने भी सीमा पर अपने घातक कमांडो को तैनात किया है। जो हथियारों के साथ लड़ाई में तो माहिर होते ही है लेकिन बिना हथियार भी इनका सामना करना किसी की बसकी बात नहीं होती।

बता दें कि 15 जून के दिन हुई झड़प से पहले ही चीन ने मार्शल आर्ट क्लब के लड़ाकों को सेना में तैनात किया था। जिसका कारण भारत-चीन के बीच 1996 में हुआ समझौता है। इस समझौते के मुताबिक, एलएसी से दो किलीमोटर के दायरे में दोनों देश को फायरिंग करने, किसी भी तरह के खतरनाक रासायनिक हथियार इस्तेमाल करने और विस्फोट की इजाजत नहीं है। इसी वजह से 15 जून को हुई खूनी झड़प के दौरान भी दोनों तरफ से किसी ने भी हथियारों का इस्तेमाल नहीं किया।

ये भी पढ़ें:-PM केयर फंड को लेकर बुरी फंसी BJP, चीनी कंपनियों से लिए करोड़ों के डोनेशन, कांग्रेस ने किया बड़ा खुलासा