भारतीय नौसेना को मिलेगी दुनिया की सबसे ताकतवर तोप, आवाज सुनते ही कांप जाएगा दुश्मन, जानें खासियत

0
166
MK 45

भारत सरकार अपने सैनिकों की ताकत में इजाफा करने के लिए उन्हें नये-नये आधुनिक हथियारों से उपलब्ध करा रहे हैं। इन हथियारों को देखने के बाद दुश्मन भी कांपने लगता है और अब भारतीय नौसेना के बेड़े में दुनिया की सबसे खतरनाक तोप शामिल होने जा रही है। इससे नौसेना की ताकत में कई गुना बढ़ोतरी हो जाएगी। इसे देखने मात्र से ही दुश्मन थरथराने लगेगा। आप इसकी ताकत का अंदाजा इस चीज से लगा सकते हैं कि, जब ये चलती है तो इसकी आवाज दुश्मनों के हवा खराब कर देती है। हालांकि, ये तोप अभी नौसेना में शामिल नहीं हुई है। पर बहुत जल्द हो जाएगी। तो चलिए जानते हैं इस खतरनाक तोप की खूबियों के बारे में..

नौसेना के बेड़े में शामिल होगी दुनिया की खतरनाक तोप
आपको ये जानकर खुशी होगी कि, ये तोप भारत को अमेरिका देगा। इसके लिए ट्रंप प्रशासन ने भारत को 71 हजार करोड़ रुपए की एमके 45 (MK-45) नौसैनिक तोपें बेचने के फैसले को मंजूरी दी है। भारत को ऐसी ही करीब 13 तोपें दी जाएंगी। इन तोपों के साथ उपकरणों को भी नौसेना को उपलब्ध कराया जाएगा।Mk-45-gun इन तोपों का उपयोग नौसेना द्वारा युद्धपोत, तटों और लड़ाकू विमानों पर बम बरसाने के लिए किया जाएगा। इस तोप की सबसे खास बात ये है कि, ये तोप अपने दुश्मन को खड़ा होने के लिए 1 मिनट तक का समय नहीं देती।

बीएई सिस्टम्स लैंड एंड आर्मामेंट्स बना रही है तोप
इस तोप को अमेरिका की बीएई सिस्टम्स लैंड एंड आर्मामेंट्स द्वारा बनाया जा रहा है। इससे देश की सुरक्षा तो होगी ही साथ ही इससे तटों के पास दुश्मन की घुसपैठ की भी निगरानी करना आसान हो जाएगा। अब तक ये तोप विश्व के कुछ चुनिंदा देशों के पास ही है। modi-trumpजिसमें ऑस्ट्रेलिया, जापान और दक्षिण कोरिया शामिल है। फिलहाल अमेरिका ब्रिटेन और कनाडा को इन तोपों को बेचने की तैयारी में जुटा हुआ है। बता दें, इस तोप को ट्रंप प्रशासन की तो मंजूरी मिल गई है लेकिन, कानूनी रूप से मंजूरी मिलना बाकी है। ऐसे में अभी भारत को इसके लिए इतंजार करना पड़ेगा क्योंकि, कानूनी मंजूरी मिलने के बाद ही ये ताकतवर तोप भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल हो पाएगी।

ये भी पढ़ेंः- भारतीय सुरक्षाबलों की मारक क्षमता में क्रांतिकारी इज़ाफ़ा, बोफोर्स से भी घातक;धनुष तोपे हुई शामिल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here