पाकिस्तान में चीनी लोगों की जान खतरे में, परमाणु प्लांट में फैली ‘गंभीर बीमारी’

0
1548

जम्मू कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले के बाद पाकिस्तान पूरी तरह बौखला गया है। पाकिस्तान की इमरान खान सरकार को जम्मू कश्मीर मामले में कूटनीतिक हार का सामना करना पड़ा है। जिसके चलते पाकिस्तान के हालात दिन ब दिन खराब होते जा रहे है। लेकिन अब पाकिस्तान की परेशानी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। दरअसल पाकिस्तान इन दिनों डेंगू की बीमारी का सामना कर पड़ रहा है। हैरानी की बात तो ये है कि पाकिस्तान के परमाणु ऊर्जा संयंत्र में काम करने वाले लगभग 200 से ज्यादा चीनी नागरिकों को डेंगू हो गया है। जिनके हालत गंभीर बने हुए है। बता दें कि पाकिस्तान में करांची के तटीय क्षेत्र हॉक्सबे के पास परमाणु ऊर्जा संयंत्र में विभिन्न स्तरों पर काम हो रहा है। जिसमें चीन के नागरिक काम कर रहे है। रिपोर्ट के मुताबिक, जांच में इन सभी चीनी नागरिकों को डेंगू संक्रमण से पीड़ित होने क पुष्टि हुई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, डेंगू की वजह से सिंध प्रांत में इसी साल करीब 1200 मामलों का पता चला है। वही अब तक छह लोगों की डेंगू से मौत हो चुकी है। इसके अलावा कई लोग डेंगू की वजह से चीन के नागरिक अस्पताल में भर्ती है। जिनका इलाज जारी है। पाकिस्तान के मंत्री अजरा फजल के हवाले से रिपोर्ट में बताया गया है कि परमाणु ऊर्जा संयंत्र में 200 चीनी नागरिक काम कर रहे है। जिसकी डेंगू वायरस की वजह से तबीयत खराब हो गई है। जो अब खतरे से बाहर है। हालांकि रिपोर्ट में अब तक चीन की आधिकारिक प्रतिक्रिया के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं दी गई। वही दूसरी तरफ पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, लंबे समय से पाकिस्तान डेंगू से पीड़ित है। जिसके चलते अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है। हैरानी की बात तो ये है कि सरकार ने इस मामले में अगर समय रहते कोई कदम नहीं उठाया। तो ये मामला जानलेवा हो जाएगी। बता दें कि पाकिस्तान ने अपने परमाणु अधिकार पर 1970 के दशक में काम करना शुरू किया था। जब पाकिस्तान में जुल्फिकार अली भुट्टों की सरकार थी। लेकिन पाकिस्तान के पास अधिकारी रूप से 1998 में परमाणु शक्ति आई। जब भारत ने दूसरे परमाणु परीक्षण किया था। ये भी पढ़ें:- पाक मंत्री शेख रशीद के बयान पर बीजेपी नेता का करारा जवाब-‘खत्म हो जाएगा पाकिस्तान’     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here