चीन की सीक्रेट यूनिट ‘61398’ का हुआ पर्दाफाश, इस खतरनाक प्लान को दे रहा था अंजाम

134

लद्दाख सीमा पर विवाद के बाद चीन लगातार एकाएक नई चाल को अंजाम दे रहा है, हालांकि हर बार चीन की मक्कारी पकड़ी जाती है, हाल ही में चीन ने काशगर एयरबेस पर अपने बॉम्बर एयरक्राफ्ट को तैनात किया था जिसकी तस्वीर भी भारत की जासूस सैटेलाइट में कैद हो गई थी. रक्षा सूत्रों ने बताया था कि चीन ने इन विमानों को युद्द की परिस्थिति को देखते हुए तैयार किया है, लेकिन भारत के राफेल के आगे यह शक्तिशाली बॉम्बर किसी काम के नहीं है. चूंकि राफेल एक बार में 3700 किलोमीटर की उड़ान भर सकता है, जबकि चीन के बॉम्बर इस रेंज में कभी उड़ नहीं सकते. और सबसे अहम बात कि राफेल में लगा 3 करोड़ का लेजर बम अकेले इन बॉम्बरों पर भारी पड़ सकता है। वहीं चीन की मक्कारी पकड़े जाने के बाद अब चीन बर्बादी का नया नुस्खा तैयार कर रहा है. बताया जा रहा है कि चीन ने सीक्रेट यूनिट ने भारत के खिलाफ अपनी गतिविधियों को तेज कर दिया है।

ये भी पढ़ें:-लद्दाख सीमा के पास चीन ने तैनात किए अपने बॉम्बर एयरक्राफ्ट, भारत के राफेल से नहीं खतरनाक!

रक्षा सूत्रों के मुताबिक चीनी सेना की सबसे सीक्रेट यूनिट ‘61398’ साइबर जासूसी के लिए जानी जाती है. सुरक्षा एजेंसियों की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले कुछ महीनों में ऐसे कई मामले देखने को मिले हैं जिसमें देश की संवेदनशील जानकारियों को साइबर जासूसी के जरिये चीन जुटाने में लगा हुआ है।

केंद्रीय सुरक्षा में तैनात एक अधिकारी ने मीडिया इंटरव्यू में बताया कि पीएलए की यूनिट ‘6139’ जिसका मुख्यालय चीन के शंघाई के पुडोंग जिले (Pudong Distt) में है, उसकी गतिविधियों में तेजी देखी जा रही है. यूनिट ‘6139’ के जरिये

चीन दुनियाभर की साइबर, स्पेस और जियोलोकेशन इंटेलीजेंस जैसी जानकारी लंबे समय से जुटाने में लगा हुआ है. भारत के खिलाफ भी ये यूनिट काफी सक्रिय देखी जा रही है जिसको लेकर हमे सावधान रहने की जरूरत है।

मालूम हो कि भारत और चीन के बीच करीब तीन महीने से लद्दाख विवाद तूल पकड़ता जा रहा है, हालांकि इससे पहले कई दफा दोनों देशों के बीच शांति वार्ता हो चुकी है, लेकिन हर बार चीन का दोगलापन सामने आ जाता है. जिसको ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने भी सेना को खुली छूट का पैगाम जारी कर दिया है।

ये भी पढ़ें:-ये हैं राफेल की 10 खूबियां..जो बनाता है इसको सबसे ताकतवर..3 करोड़ का लगा लेजर बम!