‘खतरे में सैनिक’ अमेरिका के इस कदम से बौखलाया ड्रैगन, अब दे रहा अंजाम भुगतने की धमकी

120

कभी भारत को युद्ध की धमकी देने वाला तो कभी अमेरिका को अंजाम भुगतने की चेतावनी देने वाले ड्रैगन के खिलाफ अब अमेरिका ने मोर्चा खोल दिया है। अब इसे ड्रैगन का खौफ कहे या फिर अतंरराष्ट्रीय बिरादरी  में अपनी साख बचाने की ज़हमत की वो अमेरिका को उसके सैनिकों को बचाने की नसीहत दे रहा है। उसका कहना है कि अमेरिका अपने इस कदम से अपने सैनिकों की जान खतरे में डाल रहा है। आलम यह है कि पहले से ही खटाई में चल रहे  दोनों देशों के बीच रिश्ते अब और कटू हो चले हैं। ध्यान रहे कि कोरोना वायरस सहित दक्षिण चीन सागर पर चीनी सैनिकों की गतिविधियों से खफा हुए अमेरिका ने काफी पहले से ही ड्रैगन के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है, लेकिन अब माना रहा है कि दोनों देशों के बीच रिश्ते अब और गंभीर हो सकते हैं, लिहाजा इस स्थिति में भारत किस किरदार में नजर आता है, यह तो फिलहाल आने वाला वक्त ही बता पाएगा।

ये भी पढ़े :भारत के खिलाफ चीन के खतरनाक मंसूबे, सीमा पर तैयार कर रहा है नई ब्रिगेड

यहां पर हम आपको बताते चले कि अमेरिकी रक्षा चीफ ने पैसेफिक एरिया में ‘एक इंच भी पीछे नहीं हटने’ का संकल्प लिया है तो चीन ने यह कहते हुए चेतावनी दी है कि वॉशिंगटन सैनिकों की जान खतरे में डाल रहा है। इससे पहले ताइवानी राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने भी बृहस्पतिवार को चेतावनी दी कि दक्षिणी चीन सागर के तट पर चीन की सैन्य ड्रिल समेत पूरे तनाव के चलते क्षेत्र में टकराव के हालात पैदा हो सकते हैं।

कई मसलों को लेकर जारी है विवाद 

गौरतलब है कि चीन और अमेरिका के बीच कई मसलों को लेकर विवाद जारी है। मानवाधिकार, दक्षिण चीन सागर में चीनी सैनिकों की गतिविधि को लेकर टकराव जारी है। दोनों देश के बीच रिश्ते में खटाई की एक वजह अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले अमेरिका का चीन के खिलाफ वो कदम भी माना जा रहा है , जिसमें चीनी कंपनियों और कई व्यक्तियों को दक्षिणी चीन सागर के व्यस्त जलमार्ग में निर्माण और सैन्य कार्रवाईयों के चलते ब्लैक लिस्ट कर दिया। जिसके बाद से ही दोनों देशों के बीच रिश्ते और खटासभरे हो चुके हैं और दोनों देशों के बीच जुूबानी जंग भी जारी है।

ये भी पढ़े :अमेरिका के इस कदम से खौफ में चीन, अब साउथ चाइना सी में मचेगा बवाल!