बड़ा खतरा: मलेशिया में मिला कोरोना से भी 10 गुना ज्यादा खतरनाक वायरस, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

132
malaysia

कोरोना वायरस ने दुनिया भर में कोहराम मचा दिया है। इस वायरस की चपेट में 2 करोड़ से ज्यादा लोग आ चुके है। वहीं, अब तक दुनिया भर में कोरोना की वजह से 7.73 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। इतना ही नहीं, यह महामारी दिन-ब-दिन दुनिया में फैलती जा रही है और अब तक किसी भी देश के पास कोरोना वायरस को जड़ से खत्म करने का सटीक इलाज नहीं है। इसी वजह से कोरोना वायरस ने दुनिया में खतरनाक रूप ले लिया है लेकिन इसी बीच अब मलेशिया में नए तरीका का कोरोना वायरस पाया गया है खतरे की बात ये है कि ये वायरस बाकि कोरोना वायरस के मुकाबले 10 गुना ज्यादा खतरनाक है और तेजी से फैलने की क्षमता रखता है।

मलेशिया में पाए गए डी614जी (D614G) नामक नोवल कोरोना वायरस है। जो इस वक्त दुनिया में फैले कोरोना वायरस से 10 गुना ज्यादा खतरनाक है। जिसकी जानकारी, मलेशिया के डायरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ नूर हिशाम अब्दुल्लाह ने फेसबुक के जरिए दी है। फेसबुक पोस्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, म्यूटेशन को एक क्लस्टर से तीन मामलों में देखा गया है। ये मामले तब सामने आए जब एक रेस्तरां मालिक और स्थानिय निवासी भारत से देश लौट कर आए थे। अब्दुल्ला ने फेसबुक पोस्ट में बताया कि इस कोरोना वायरस के नए रूप का मतलब यह हो सकता है कि म्यूटेशन के खिलाफ टीकों पर मौजूदा अध्ययन अधूरा और अप्रभावी हो सकता है।

इसके आगे उन्होंने बताया कि इन दो समूहों को क्षेत्र पर तेजी से फैलने वाले सार्वजनिक स्वास्थ्य नियंत्रण कार्यों के कारण नियंत्रित किया जाता है। यह परीक्षण एक प्रारंभिक परीक्षण है और कई अन्य मामलों का परीक्षण करने के लिए प्रगति के कई अनुवर्ती परीक्षण है। इसका मतलब ये हुआ कि अब कोरोना के लिए लोगों को पहले से ज्यादा जागरूक होना है क्योंकि म्यूटेशन लोगों को 10 गुना ज्यादा संक्रमित करता है और व्यक्ति इसकी चपेट में काफी आसानी से आ जाता है। इसलिए अब मलेशिया का मुख्य मकसद सार्वजनिक स्वास्थ्य को सुरक्षित करना है। इसके अलावा कोरोना-19 के मानदंडों को सख्ती से पालन भी करवाना है।

ये भी पढ़ें:-कोरोना संकट के बीच इस राज्य में बढ़ाया गया लॉकडाउन, जारी हुई नई गाइडलाइन