पाकिस्तान को नहीं मिला मुस्लिम देशों का साथ, धारा 370 पर पड़ा अलग-थलग

0
634
modi-imran

मोदी सरकार ने 5 अगस्त 2019 को ऐतिहासिक इतिहास रचा। और जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाली धारा 370 के प्रावधान को खत्म कर दिया। मोदी सरकार के इस फैसले पर देश के कोने-कोने से लोगों ने उनका धन्यवाद करते हुए सोमवार के दिन को त्योहार की तरह मनाया। जहां एक तरफ लोग भोले की भक्ति में लीन नाग पंचमी मना रहे थे। तो दूसरी तरफ अमित शाह के फैसले ने एक बार फिर देश को नाचने-गाने त्योहार मनाने का मौका दिया। लेकिन भारत की ये खुशी दुश्मन देश पाकिस्तान को बिल्कुल हजम नहीं हुई। पहले तो भारत को चेतावनी दी उसके बाद अपने मित्र देशों से मदद की गुहार लगाई। लेकिन मुस्लिम देश और मित्र देशों ने भी धारा 370 पर भारत का साथ देते हुए पाकिस्तान को अकेला छोड़ दिया। जिससे पाकिस्तान एक बार फिर से अलग-थलग पड़ चुका है।

दुनिया के किसी कोने से पाक को नहीं मिली मदद
धारा 370 पर भारत के को गीदड़ धमकी देने वाले पाकिस्तान को फिलहाल दुनिया के किसी भी कोने से मदद नहीं मिल रही है। धारा 370 हटने के बाद जहां पाक के विदेश मंत्री ने सोमवार को बयान जारी कर कहा था कि, भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर अंतरराष्ट्रीय तौर पर विवादित क्षेत्र है। इस अंतरराष्ट्रीय विवाद में एक पक्ष होने के नाते पाकिस्तान इस अनुचित कदम का विरोध करने के लिए हर विकल्प का इस्तेमाल करेगा।

चीन ने छोड़ा पाक का साथ
पाकिस्तान का खास दोस्त चीन जिसने आतंक के मुद्दे पर भी पाक का साथ दिया था। उसने भी इस मामले पर चुप्पी साधी हुई है। और अमेरिका ने भी धारा 370 खत्म किए जाने के भारत सरकार के फैसले को आंतरिक मामला माना है। यूएस विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने एक बयान में कहा, हम जम्मू-कश्मीर के घटनाक्रमों पर करीब से नजर बनाए हुए हैं। हम इस बात का संज्ञान लेते हैं कि जम्मू-कश्मीर का संवैधानिक दर्जा बदलने के फैसले को भारत ने सख्त तौर पर अपना आंतरिक मामला करार दिया है। साथ ही उन्होंने दोनों पक्षों से सीमा पर शांति बनाए रखने की अपील की है।

तुर्की ने दिया पाक का साथ
चीन ने जहां पाकिस्तान का साथ छोड़ा तो दूसरी तरफ तुर्की ने धारा 370 पर पाक का साथ दिया है। पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैय्यप एर्दोगान को सोमवार को फोन कर मदद मांगी और उन्होंने भारतीय अधिकृत कश्मीर में बदलते हालातों पर मदद देने का भरोसा जताया। ये भी पढ़ेंः- धारा 370 पर अमित शाह के फैसले से नाराज हुआ ये पाकिस्तानी क्रिकेटर, यूनाइटेड नेशंस से की दखल की अपील

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here