भारत-चीन सीमा पर हलचल तेज, अमेरिका ने किया सतर्क, खतरनाक बन गया है चीन, ‘हल्के में ना ले’

0
3498

भारत-चीन की सीमा (india china border) पर बीते कुछ दिनों से लगातार सैन्य हलचल देखने को मिल रही है. इस वजह से दोनों देशों के बीच तनाव उत्पन्न हो चुका है. सरहद पर हो रही गतिविधियों को लेकर अब अमेरिका ने भारत को चेताते हुए कहा है कि, भारत सरहद पर हो रही हलचल को हल्के में ना ले. व्हाइट हाउस (white house) की एक रिपोर्ट में कहा गया कि, चीन की तरफ से हो रही गतिविधियां खतरनाक है इसलिए इसे भारत को हल्के में नहीं लेना चाहिए. इसके अलावा अमेरिका का कहना है कि, चीन सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि अन्य पड़ोसी देशों पर भी जबरदस्त सैन्य और अर्धसैनिक गतिविधियों में जुटा हुआ है.

भारत ने जताया विरोध
मालूम हो कि, चीन की तरफ से हुई गतिविधियों को लेकर भारत में कड़ा विरोध जताया है. भारत द्वारा उठाए गए कदम का समर्थन एक शीर्ष अमेरिकी राजनयिक ने किया. हालांकि, उनका समर्थन करने के पीछे उद्देश्य ये था कि, चीन को समझ आ जाए कि वो जो भी कर रहा है उसका विरोध किया जा रहा है.

व्हाइट हाउस की रिपोर्ट में साफ तौर पर कहा गया कि, चीन अपने पड़ोसी देशों बीजिंग पूर्व और दक्षिण चीन सागर, ताइवान स्ट्रेट और भारतीय-चीन सीमा में लगातार सैन्य और अर्धसैनिक क्रियाकलापों में जुटा हुआ है.india-china border लेकिन, चीन की ये हरकतें न सिर्फ पड़ोसियों देशों के प्रति नफरत को दर्शाती है बल्कि वह अपनी प्रतिबद्धताओं का भी खंडन कर रहा है.

ताकतवर चीन की चाल
दरअसल, चीन अब हर तरह से ताकतवर बन चुका है और वह अपनी ताकत अब विश्व के शक्तिशाली देशों को दिखाना चाहता है. जिससे पड़ोसी देश चीन से डरकर रहें. चीन अपनी इस चाल को इस हिसाब से चल रहा है जिससे उसके खतरे कम हो जाएं और वह अपनी नई रणनीति तैयार कर सके. बात अगर उस रिपोर्ट की करें जो कांग्रेस को सौंपी गई है तो उसमें ‘संयुक्त राज्य अमेरिका का सामरिक दृष्टिकोण पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना’ में यह मांग की है कि, राष्ट्रीय रक्षा प्राधिकरण अधिनियम, 2019 पेश किया जाए. क्योंकि, चीन जिस तरह की गतिविधियों को अंजाम दे रहा है वो वाकई चिंताजनक है. बता दें, विश्व में फैले कोरोना वायरस को लेकर चीन पर शुरुआत से ही आरोप लगते आए हैं. हालांकि, चीन ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों का खंडन किया है. वहीं अमेरिका की खुफिया एजेंसी वायरस की जानकारी जुटाने में लगी हुई है. जिससे वायरस के पीछे की वजह पता चल सके.

ये भी पढ़ेंः- चीन ने फिर सरहदी इलाकों पर मचाई हलचल, तो भारतीय वायुसेना ने दिया करारा जवाब