kandhar strike

कंधार। अफगानिस्तान एयरफोर्स ने तालिबान पर बड़ी कार्रवाई की है। एयरस्ट्राइक हमले में अफगानी वायुसेना ने 254 तालिबानी आतंकियों को खत्म कर दिया है और 97 से ज्यादा आतंकी घायल बताए जा रहे हैं। अफगानी सेना ने 24 घंटे के अंदर काबुल, कंधार, कुंदुज, हेरात, हेलमंद और गजनी समेत आतंकियों के 13 ठिकानों पर एयरस्ट्राइक की है। तालिबानी आतंकियों पर यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। इस कार्रवाई में गाड़ी को विस्फोटकों से उड़ा दिया गया है। इस दौरान अफगानी सेना ने 13 आईईडी भी डिफ्यूज किए हैं। शनिवार को भी वायुसेना ने कंधार के एक इलाके में तालिबानी आतंकियों के बंकरों को निशाना बनाया था। इस कार्रवाई में 10 से ज्यादा आतंकी मारे गए थे।

बढ़ रहा तालिबान
अफगानिस्तान में हिंसा के मामलों में तेजी आई है। तालिबान ने काफी भूभाग पर कब्जा कर लिया है। कई पड़ोसी देशों के साथ लगती सीमाओं पर तालिबान ने कब्जा कर लिया है। कई प्रांतीय राजधानियों पर उसके कब्जा करने का खतरा बना हुआ है। अमेरिका-नाटो सैनिकों की वापसी का 95 फीसदी काम पूरा हो गया है। घोषणा के अनुसार 31 अगस्त तक अफगानिस्तान से उनकी पूर्ण वापसी हो जाएगी।

इमरान कर रहे तालिबान का समर्थन
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि तालिबान कोई सैन्य संगठन नहीं है बल्कि वह भी एक सामान्य नागरिक हैं। जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से पूछा गया कि हाल ही में एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि करीब 6,000 पाकिस्तानी लड़ाकू बॉर्डर पार कर तालिबान की मदद करने गए हैं? इसपर इमरान खान ने कहा कि यह बिल्कुल गलत बात है, वो हमें इस बात का सबूत क्यों नहीं देते हैं?

कंधार पर राॅकेट हमला
कंधार एयरपोर्ट पर रॉकेट अटैक हुआ है। तालिबान के लड़ाकों ने कंधार को चारों ओर से घेर लिया है और वर्तमान में शहर में अफगान सुरक्षा बलों के साथ युद्ध जारी है। एयरपोर्ट के एक अधिकारी ने बताया कि देर रात कम से कम तीन रॉकेट दक्षिणी अफगानिस्तान में स्थित कंधार एयरपोर्ट पर आकर गिरे। देश के अधिकतर हिस्से में अफगान सुरक्षा बलों और तालिबानी लड़ाकों के बीच जंग जारी है। राॅकेट हमला ऐसे समय पर हुआ है, जब तालिबान के लड़ाकों ने हेरात, लश्कर गाह और कंधार को चारों ओर से घेर लिया है।

यह भी पढ़ेंः-पाकिस्तान ने तालिबान के खौफ से सीमा पर तैनात की सेना