अनियमित पीरियड्स से हैं परेशान, तो प्रेग्नेंसी के अलावा हो सकते हैं ये 5 कारण

71
irregular and delayed periods reason in hindi

बढ़ती उम्र और भागदौड़ भरी जिंदगी में लड़कियां अक्सर अपनी सेहत के प्रति लापरवाही कर जाती हैं. जिसका सीधा असर पीरियड्स पर पड़ता है और प्रेग्नेंसी (Pregnancy) ना होते हुए भी पीरियड्स देरी से आने लगते हैं. इस कारण शरीर में भी कई तरह की दिक्कतें महसूस होती हैं. अनियमित पीरियड्स (Irregular Periods) आज के समय में ज्यादातर लड़कियों की समस्या है. हार्मोन से लेकर बढ़ता वजन और हेल्दी डाइट ना लेने जैसे कारणों की वजह से भी ये समस्या होने लगती है. वैसे तो अनियमित मासिक चक्र (Irregular Menstrual Cycle) आम होते हैं पर अगर ऐसा अक्सर होने लगे तो ये गंभीर परेशानी बन सकती है. ऐसे में आपकी सेहत का ख्याल करते हुए हम आपको बताएंगे कुछ कारणों के बारे में जिन्हें हर लड़की को जानना जरूरी है.

गर्भावस्था (Pregnancy)
आमतौर पर पीरियड्स देरी से आने का सबसे आम कारण प्रेग्नेंसी है. लेकिन यह सिर्फ तभी जब आप शादीशुदा हैं और आप बेबी प्लानिंग करने के बारे में सोच रहे हैं.irregular periods reasons अगर बिना प्रेग्नेंसी के कारण भी ऐसा है तो ये कारण जानना आपके लिए बेहद जरूरी है.

पीरियड्स देरी से आने के 5 बड़े कारण (Irregular Periods Reasons)

1. तनाव
जीवनशैली में बदलाव आने का सबसे बड़ा कारण तनाव है. तनाव से ना सिर्फ मासिक धर्म चक्र प्रभावित होता है बल्कि कई बीमारियां भी जन्म लेने लगती हैं. तनाव से शरीर के अंदर हार्मोन प्रभावित होते हैं जो अनियमित पीरियड्स का कारण बनता है. अगर आपको तनाव की समस्या है तो डॉक्टर से सलाह लें और व्यायाम करें.

2. पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि सिंड्रोम (PCOS)
अनियमित पीरियड्स के पीछे पीसीओएस या पीसीओडी भी एक कारण है. जिसमें अंडाशय में कई अल्सर होते हैं. इस स्थिति में पीरियड्स देरी से आ सकते हैं. इसके लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है क्योंकि PCOS चिकित्सा स्थिति है जिसका सही इलाज बेहद जरूरी है.

3. मोटापा/वजन
हद से ज्यादा मोटापा और पतलापन सेहत के लिए नुकसानदायी हो सकता है. अगर आपका वजन अनियमित है तो इसका असर मासिक चक्र पर भी दिखाई दे सकता है. क्योंकि वजन ज्यादा होने से हार्मोन्स प्रभावित होते हैं और पीरियड्स देरी से आते हैं. इसके लिए जरूरी है कि आप सही समय पर खाना खाएं और योग को दिनचर्या में शामिल करें.

4. दवाईयां
दवाईयां भी मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करती हैं. खासतौर से जन्म नियंत्रण की गोलियां. ये दवा अंडाशय को अंडे जारी करने से रोकती हैं. इसके अलावा अगर आपको किसी दवा से एलर्जी है तो भी आपके पीरियड्स देरी से आ सकते हैं. लेकिन ऐसा है या नहीं इसके लिए आपको स्त्री रोग विशेषज्ञ से एक बार जरूर संपर्क करना चाहिए.

5. कोई बीमारी या रोग
अगर आप काफी लंबे तक किसी बीमारी से ग्रसित रहे हैं तो उसका असर भी पीरियड्स पर पड़ सकता है. मधुमेह भी हार्मोन को प्रभावित करता है और इस कारण से पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं.

नोटः आलेख में दी गई जानकारी सामान्य है. अगर आप भी ऐसी समस्या से जूझ रही हैं तो एक बार डॉक्टर जरूर संपर्क करें. यूपीवार्तान्यूज इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता.

ये भी पढ़ेंः- गर्म पानी के सेवन से पहले जानें जरूरी बातें, 7 बड़े-बड़े फायदे, लेकिन 3 हैं खतरनाक नुकसान