तांबे के बर्तन में रखी ये 4 चीजें बन जाती हैं जहर, भूलकर भी न करें सेवन

0
222
copper vessel

माना जाता है तांबे के बर्तन में खाना खाने और पानी पीने से सेहत अच्छी रहती है। ये परंपरा भारत में सदियों से चली आ रही है। सुबह खाली पेट तांबे के बर्तन में रखा पानी पीना बहुत लाभकारी माना जाता है। वैज्ञानिकों ने भी तांबे के बर्तन में पानी पीने को सेहत के लिए बहुत अच्छा बताया है। मगर क्या आप जानते हैं कि तांबे के बर्तन में रखे कुछ पेय पदार्थ का सेवन आपके लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक भी हो सकता है? आज हम आपको उन पेय पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें आप तांबे के बर्तन में रखकर पीते हैं तो आपकी सेहत को बहुत नुकसान पहुंच सकता है।

दूध

तांबे के बर्तन में भूलकर भी दूध नहीं रखना चाहिए और न ही पीना चाहिए। तांबे के बर्तन में रखा हुआ दूध जहर के समान हो जाता है। ऐसे में यदि आप इस दूध का सेवन करते हैं तो आपको फूड प्वॉइजनिंग भी हो सकती है।

छाछ

छाछ सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। मगर यदि आप छाछ का सेवन तांबे के बर्तन में करते हैं तो यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। छाछ में कई प्रकार के गुण मौजूद होते हैं जो तांबे के साथ मिलकर रिएक्शन कर सकते हैं।

खट्टे जूस

खट्टी चीजें जैसे जूस, आचार आदि तांबे के बर्तन में रखकर खाने से आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है। ये सभी खट्टी चीजें तांबे के बर्तन के साथ मिलकर बहुत रिएक्ट करता है। तांबे के बर्तनों में खट्टी चीजें खाने से उल्टी जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

लेमन वॉटर

नींबू पानी स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है। मगर तांबे के बर्तन में नींबू पानी पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक साबित हो सकता है। नींबू में एसिड होता है जो तांबे के साथ मिलकर सेहत पर रिएक्ट करता है। अगर आप तांबे के गिलास में नींबू पानी पीते हैं, तो आपको गैस, पेट दर्द, उल्टी आदि की परेशानी शुरू हो सकती है।

इसे भी पढ़ें:- Cyclone Shaheen: ‘गुलाब’ के बाद अब बढ़ा ‘शाहीन’ चक्रवात का खतरा,7 राज्यों में हो सकता है मौत का तांडव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here