भारत में कोरोना मरीजों को राहत पहुंचाएगी ये दवा, बाजार में इस नाम से हुई लॉन्च

23

देश में कोरोना महामारी का कहर रुकने का नाम नहीं ले रहा है, महामारी के चलते लागू हुए लॉकडाउन का भी रत्ती भर असर कोरोना वायरस पर नहीं पड़ा। ऐसे में सरकार की चिंता और ज्यादा बढ़ गई है। चूंकि कोरोना मरीजों के केसेज में प्रतिदिन लाखों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है। ताजा आंकड़े की बात करें तो अब तक पूरे भारत में कोरोना के कुल केस 47 लाख से भी अधिक पार हो चुके हैं। जबकि मौत का ग्राफ तेजी से आगे बढ़ रहा है। वहीं आंकड़ो को संख्या में तब्दील करें तो अब तक कोरोना से कुल मौतें 73,890 हुई हैं। यह बुधवार शाम तक का आंकड़ा स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किया है। बहरहाल इस बीच देश में राहत की खबर यह है कि औषधि क्षेत्र की कंपनी डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज लिमिटेड ने भारत में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए (Remdesivir) दवा को बाजार में लॉन्च करने का ऐलान किया है। बताया जा रहा है कि औषधि कंपनी की यह दवा मरीजों के इलाज में कारगर साबित होगी। इस दवा को  ‘रेडायक्स’ ब्रांड के नाम से बाजार में उपलब्ध कराया गया है।

ये भी पढ़ें:-कोरोना मरीजों के लिए संजीवनी के रूप में ये दवा! तेजी से हो रहा सुधार

भारत के दवा महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने रेम्डेसिविर का इस्तेमाल भारत में कोविड- 19 के गंभीर लक्षण वाले अस्पताल में भर्ती मरीजों पर आपात स्थिति में करने की मंजूरी दी है. कंपनी ने कहा है, ‘डा रेड्डीज की रेडायक्स 100 मिलीग्राम की छोटी शीशी में उपलब्ध होगी।

बाकायदा दवा कंपनी की तरफ से ‘रेडायक्स’ को लॉन्च करने के बाद एक प्रेस विज्ञप्ति भी जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि यह दवा गिलीड साइंसिज इंक (गिलीड) के साथ लाईसेंस व्यवस्था के तहत जारी की गई है। गिलीड ने डा.

रेड्डीज लैब को रेम्डेसिविर (Remdesivir) के पंजीकरण, विनिर्माण और बिक्री का अधिकार दिया है. जानकारी के लिए बता दें कि इस तरह के अधिकार भारत सहित 127 देशों में कोविड- 19 के संभावित इलाज में काम आने वाली इस दवा के लिए दिए गए हैं।

जानकारों का कहना है कि रेडायक्स को बाजार में उतारना भारत में कोविड- 19 मरीजों के इलाज के लिये महत्वपूर्ण दवा पेश करने की हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाती है. डा. रेड्डीज लैबोरेटरीज के ब्रांडेड मार्केट्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी

एम वी रमन्ना ने कहा, ‘हम ऐसे उत्पादों को विकसित करने के प्रयास जारी रखेंगे, ताकि कोरोना महामारी से देश जल्दी उभर सके।

ये भी पढ़ें:-खुशखबरीः कोरोना वायरस की बन गई सफल वैक्सीन, अब जल्द खत्म होगी महामारी!