अवसाद से बाहर निकलने के पलों को साझा करने के लिए मास्टर ब्लास्टर ने की तारीफ

sachin

दिल्ली। क्रिकेटर और प्रशंसकों के बीच का रिश्ता बहुत ही आत्मीय होता है। भारतीय टीम के क्रिकेटर हमेशा अपने अच्छे पल और सकारात्मक ऊर्जा से दूसरों को अवगत कराते हैं। virat kohli विराट कोहली को सचिन तेंदुलकर ने एक बेहतरीन कॅरिअर के लिए बधाई दी। साथ ही अवसाद से निकलने के जुड़े अनुभव को शेयर करने के लिए उनकी सराहना की। कोहली ने एक पाॅडकास्ट में कहा था कि उस दौर में सचिन तेंदुलकर ने उनकी काफी मदद की थी। कोहली ने कहा था उनके शब्द ने मुझे एक नई दिशा दी। उनकी प्रेरणा से मैं अवसाद से बाहर निकल सका। सचिन ने ट्विटर पर लिखा कि मुझे तुम्हारे क्रिकेट कॅरिअर पर गर्व है। इस युवाओं को सोशल मीडिया पर काफी उलझने हैं। 1000 लोग बात करते हैं पर असल में कोई नहीं। हमें उन्हें सुनना होगा और उनकी मदद करनी होगी। अवसाद से बाहर निकालना और दूसरों की सहायता करना हमारा दायित्व है।

यह भी पढ़ेंः-IPL ऑक्शन मे Sachin Tendulkar के शहजादे पर ये टीमें लगा सकती हैं बोली
इंग्लैंड दौरे के बारे में विराट कोहली ने कहा कि आपको पता नहीं होता है कि इससे कैसे पार पाना है। यह वह दौर था जबकि मैं चीजों को बदलने के लिए कुछ नहीं कर सकता था। मुझे ऐसा महसूस होता था कि जैसे कि मैं दुनिया में अकेला इंसान हूं। कोहली ने याद किया कि उनकी जिंदगी में उनका साथ देने वाले लोग थे लेकिन वह तब भी अकेला महसूस कर रहे थे। उन्होंने कहा कि तब उन्हें पेशेवर मदद की जरूरत थी। उन्होंने कहा कि निजी तौर पर मेरे लिए वह नया खुलासा था कि आप बड़े ग्रुप का हिस्सा होने के बावजूद भी अकेला महसूस करते हो।

मैं यह नहीं कहूंगा कि मेरे साथ बात करने के लिए कोई नहीं था लेकिन बात करने के लिए कोई पेशेवर नहीं था जो समझ सके कि मैं किस दौर से गुजर रहा हूं। मुझे लगता है कि यह बहुत बड़ा कारक होता है। मैं इसे बदलते हुए देखना चाहता हूं। सचिन तेंदूलकर ने विराट कोहली के अवसाद के दिनों में मदद की थी। सकारात्मक ऊर्जा से ही विराट अवसाद से बाहर निकले। उन्होंने अपने चहेतों को अवसाद से बाहर निकलने की स्थितियों से अवगत कराया है जिसका लाभ भी मिलेगा।

यह भी पढ़ेंः-टीम इंडिया ने रचा इतिहास, ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में दी मात, ऐतिहासिक जीत पर PM गदगद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *