Microwave

आज कल मॉर्डन किचन (Kitchen) में माइक्रोवेव (Microwave) का होना बहुत जरूरी माना जाता है। इसमें खाना बनाना, खाना गर्म करना बेहद आसान होता है साथ ही मेहनत भी कम लगती है मगर क्‍या आपको मालूम है कि यह इलेक्ट्रिक गजट आपके किचन को जितना मॉडर्न बनाता है आपके परिवार के स्वास्थ्य के लिए यह उतना ही नुकसानदेह है।

एक रिपोर्ट में जाने माने फिजीशियन डॉ. जोसेफ मोरक्‍योला ने बताया है कि असल में, जब हम अपने पोषक तत्‍वों से भरे भोजन को माइक्रोवेव में डालते हैं तो इलेक्टिक हीट इन्‍हें ‘डेड फूड’ में परिवर्तित कर देते हैं। इसमें मौजूद वॉटर मॉलेक्‍यूल्‍स रैपिडली बाउंस करते हैं जिससे तेजी से खाना गर्म होने लगता है। इस प्रकिया से भोजन के पोषक तत्‍वों का स्‍ट्रक्‍चर बदल जाता है और इसके सारे न्‍यूट्रिशन हानिकारक तत्‍वों में बदल जाते हैं।

कई और भी हैं नुकसान

कई रिसर्च में यह बात भी सामने आई है कि माइक्रोवेव ओवन के ज्यादा प्रयोग करने से बॉडी की इम्‍यूनिटी कम हो जाती है। यदि गर्भवती महिला इसमें गर्म किए गए भोजन का सेवन करे तो होने वाले बच्‍चे में बाई बर्थ कई समस्याएं हो सकती है। माइक्रोवेव के लगातार इस्तेमाल करने से कैंसर का खतरा भी अधिक बढ़ जाता है। केवल इतना ही नही, इसके इस्तेमाल से कई लोगों में हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्या देखने को मिली है।

ये भी जरूरी

  • जब आप किसी भोजन को प्‍लास्टिक के बर्तन में रखकर गर्म करते हैं तो यह भोजन में कार्सिनोजेंस उत्पन्न कर देता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है।
  • माइक्रोवेव के हीट से आपके भोजन में बीपीए, पॉलिथीलीन टर्पथेलेट, बेन्‍जेन जैसे कई टॉक्सिक कैमिकल उत्पन्न हो जाते हैं जिससे कई समस्याएं होने लगती है।
  • रशियन रिसर्च के अनुसार इसमें दूध और भोजन को गर्म करने से आपके रेड ब्‍लड सेल कम हो जाते हैं और वाइट ब्‍लड सेल्‍स बढ़ने लगते हैं। केवल इतना ही नहीं कोलेस्‍ट्रॉल भी हाई हो जाता है। यही माइक्रोवेव रेडिएशन से ब्‍लड और हार्ट रेट दोनों पर असर पड़ता है।

इसे भी पढ़ें:- अगर आपकी हथेली में हैं ये चिन्‍ह तो जल्द बन सकते हैं करोड़पति, तुरंत करें चेक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here