जब इस चीज की जिद्द करने लगे थे विनोद खन्ना, पिता ने कनपटी पर तान दी थी बंदूक

50
Vinod Khanna bday

विनोद खन्ना (Vinod Khanna) बॉलीवुड के सुपरस्टार कहे जाते थें। उनकी डैशिंग पर्सानिलिटी देख अच्छे अच्छे एक्टर के पसीने छूट जाते थे। वह अपने समय में अपनी हैंडसम पर्सानिलिटी के लिए ही जाने जाते थे। विनोद खन्ना आज भले ही हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनकी छाप फिल्म इंडस्ट्री में हमेशा बनी रहेगी। विनोद खन्ना 6 अक्टूबर को जन्मदिन होता है। आइए उनके जन्मदिन पर बात करते हैं उनसे जु़ड़े कुछ अनसुने और इंटरेस्टिंग किस्से..

यह भी पढ़े– बिग बॉस फेम 33 साल की अभिनेत्री ने छोड़ी फिल्म इंडस्ट्री, ‘अल्लाह ताला’ का लिया नाम

पिता ने तान दी थी गोली
विनोद खन्ना कॉलेज समय से ही काफी डैशिंग पर्सानिलिटी के शख्सियत थे। कॉलेज की लड़कियां उन पर मरती थीं। कॉलेज में ही लोगों ने उन्हें एक्टिंग के लिए प्रोत्साहित किया जिसके बाद एक्टिंग की तरफ उनका झुकाव बढ़ने लगा। एक्टिंग से पहले विनोद खन्ना इंजीनियर बनना चाहते थे। हालांकि, उनके पिता चाहते थें कि विनोद उनका बिजनेस संभाले। पेशावर से आने के बाद विनोद का परिवार पहले दिल्ली आए, फिर मुंबई आ गए। vinod khanna मुंबई आने के बाद विनोद को एक्टिंग में करियर बनाने का मौका मिल गया। विनोद खन्ना ने जब अपने पिता से अपनी इच्छा जताई तो पिता ने उनके कनपटी पर गन ही तान दी। हालांकि, मां ने लाख समझाया तो पिता मान गए और विनोद को 2 साल का मौका दिया खुद को प्रूफ करने में।

पहली ही फिल्म में बने विलेन
बॉलीवुड में लाखों लोग अपना करियर बनाने आते हैं जिनमें से एक विनोद खन्ना भी थे। विनोद खन्ना उन अभिनेताओं में से थे जिन्हें फिल्मों में बस रोल से मतलब था। इसलिए उन्हें जब उनको पहली फिल्म ‘मन का मीत’ में विलेन का किरदार मिला तो वह झट से राजी हो गए। vinod khanna इस फिल्म से सुनील दत्त अपने भाई सोम दत्त को डेब्यू करवाने वाले थे। इस फिल्म में सोमदत्त ने जितनी सुर्खियां नहीं बटोरी उतने चर्चा में विनोद खन्ना रहे। उनकी पहली डेब्यू फिल्म ने ही विनोद खन्ना को स्टार बना दिया था।

विनोद खन्ना से जलते थे शत्रुघ्न सिन्हा
विनोद खन्ना की पर्सानिलिटी और उनके स्टारडम की आग कई सितारों पर पड़ती थी जिनमें शत्रुघ्न सिन्हा भी शामिल थे। शत्रुघ्न सिन्हा का विनोद से कोई जेलसी नहीं थी लेकिन दिक्कत ये थी कि उन्हें वह तवज्जो नहीं मिल रही थी जो विनोद को मिल रही थी।vinod khanna  दरअसल, मेरे अपने फिल्म से शत्रुघ्न सिन्हा ने बतौर हीरो डेब्यू किया था। इस फिल्म के सेट पर शत्रु इतना नाराज हो गए थे कि मूवी का प्रीमियर भी अटैंड नहीं किया था। शत्रु का मानना था कि फिल्म के डायरेक्टर गुलजार उनसे ज्यादा विनोद को इज्जात और तवज्जो देते थे। ऐसा सिर्फ पर्सानिलिटी को लेकर नहीं बल्कि फी को लेकर भी था।

अमिताभ ने मुंह पर फेंक दिया था कांच
अमिताभ बच्चन और विनोद खन्ना की दोस्ती की मिसाल पेश की जाती है। दोनों ने एक ही समय में बॉलीवुड में डेब्यू किया था। दोनों कई फिल्मों में साथ नजर आ चुके हैं, लेकिन उन सभी फिल्मों में विनोद का औदा अमिताभ से ऊपर था। ये सिर्फ औदे का नहीं बल्कि पर्सानिलिटी को लेकर भी था। अमिताभ से ज्यादा विनोद खन्ना डैशिंग थे, इसलिए अमिताभ पर आरोप भी लग चुका है कि वह विनोद से जलते थे। vinod दरअसल, फिल्म मुकद्दर के सिकंदर में अमिताभ और विनोद के बीच हो रही फाइट में अमिताभ ने विनोद पर इतनी जोर से कांच फेंका कि विनोद के चिन पर चोट लग गई। अमिताभ का ये मूवमेंट उनके जोश से कम फिल्माना था। हालांकि,शुक्र है कि चोट चिन पर आई थी,अगर चेहरे पर लगता तो पूरा फेस खराब हो जाता। हालांकि, इतना कुछ होने के बाद भी अमिताभ और विनोद के बीच दोस्ती बरकरार है।