Video: जब हजारों आक्रोशित भीड़ से घिर गए थे अजय देवगन, पिता ने एक्शन हीरो की तरह बचाई थी जान

30
ajay devgn

बॉलीवुड के सिंघम अजय देवगन (Ajay Devgn) अपने दमदार अभिनय के लिए जाने जाते हैं। अजय देवगन ने सभी स्टीरियोटाइप्स को तोड़कर अपनी एक अलग पहचान बनाई है। चाहे रोमांटिक हीरो के तौर पर हो, चाहे एक्शन हीरो के तौर पर हो और या फिर कॉमेडियन रोल प्ले करना हो। उनका दमदार अभिनय फैंस को काफी प्रभावित करता है। फिल्म इंडस्ट्री में कई ऐसे अभिनेता हैं जो एक्शन रोल के लिए डबल बॉडी का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन अजय देवगन अपने एक्शन सीन्स खुद ही करना पसंद करते हैं और इसके पीछे की वजह उनके पिता वीरू सिंह (Veeru Devgan) हैं। दरअसल, वीरू देवगन खुद एक एक्शन डायरेक्टर हैं, जो खुद अपने बेटे अजय देवगन को एक एक्शन हीरो बनाने की इच्छा रखते थें।

यह भी पढ़े- निरहुआ के साथ रोमांटिक हुईं आम्रपाली दुबे, वायरल हुआ दोनों का बोल्ड सॉन्ग, देखें Video

अजय देवगन के पिता वीरू देवगन ने एक्शन में महारथ हासिल कर रखी थी। उन्होंने कई एक्शन सीन्स को डायरेक्ट किया है। वीरू देवगन फिल्मों की दुनिया में एक्शन स्टंट तो निर्देशित करते ही थे, लेकिन वह असल जिंदगी में भी एक एक्शन सुपरस्टार थे जिन्होंने मुसीबत में फंसे अजय देवगन को बाहर निकाला था। जैसे ही उन्हें पता चला कि अजय मुसीबत में है तो वह तुरंत 250 फाइटर्स को लेकर अजय को बचाने के लिए पहुंच गए थे। ये किस्सा सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

इस वीडियो में निर्माता निर्देशक साजिद खान (Sajid Khan), अजय देवगन, अभिषेक बच्चन (Abhishek Bachchan), रितेश देशमुख (Ritesh Deshmukh) और संजय दत्त (Sanjay Dutt) भी नजर आ रहे हैं। इस वीडियो में साजिद उस दिन का किस्सा बताते हैं जब 250 फाइटर्स लेकर वीरू देवगन अजय को बचाने पहुंचते हैं। साजिद कहते हैं, अजय की व्हाइट जीप थी, जिसमें हम सब घूमते थे। हॉलिडे होटल के पास पतली सी गली थी, जहां से अचानक पतंग के पीछे भागते हुए एक बच्चा पता नहीं कहां से आ गया। जीप फुल स्पीड में थी, तो हमने ब्रेक लगा दिया।

साजिद आगे कहते हैं, ‘हालांकि, बच्चे को चोट नहीं लगी थी। वह डर गया और रोने लगा। इसी बीच पता नहीं वहां पर कहां से हजारों लोग इकट्ठा हो गए। हम उन्हें समझाने की कोशिश कर रहे थे कि इसमें अजय की कोई गलती नहीं है और बच्चा भी बिल्कुल ठीक है।’ साजिद के लाख समझाने के बाद भी भीड़ ने कुछ भी नहीं सुना। साजिद किस्सा सुनाते हुए कहते हैं, फिर समझ नहीं आया कि क्या हुआ। 10 मिनट बाद यह खबर अजय के पिता वीरू देवगन को मिली। जो उसी समय 150 से 250 फाइटर्स लेकर स्पॉट पर पहुंच गए। यह बिल्कुल हिंदी फिल्म सीन की तरह था।’ ये किस्सा सुनते ही अजय देवगन की आंखे भी भर आती हैं। सोशल मीडिया पर ये वीडियो जमकर वायरल हो रहा है।

यह भी पढ़े- किशोर दा ने रचाई चार शादियां, मधुबाला के लिए बदला धर्म और नाम, फिर हुआ दुखद अंत