Actress soundrya

फिल्म सूर्यवंशम को आज भी लोग भुला नहीं सकते. इस मूवी में जितना लोग अमिताभ बच्चन के डबल रोल एंजॉय करते हैं तो उतना ही फिल्म की अभिनेत्री सौंदर्या को याद करते हैं. सौंदर्या की एक्टिंग ने तो लोगों का दिल जीता ही, साथ उनकी मुस्कान ऐसी थी कि फिल्मी देखने के बाद आपके भी होंठो पर हंसी खुद आ जाए. 1999 में रिलीज हुई फिल्म सूर्यवंशम में अपनी अदायगी का जादू बिखेरने वाली एक्ट्रेस सौंदर्या की मौत ऐसे हुई कि लोग आज भी याद कर सिमट जाते हैं. किसे पता था कि फिल्म सूर्यवंशम में काम करने के बाद सौंदर्या इस तरह किसी हादसे का शिकार हो जाएंगी. बहुत ही कम उम्र में ही सौंदर्या ने दुनिया को अलविदा कह दिया. जी हां सौंदर्या की मौत हुई तो उस वक्त वो सिर्फ 31 साल की थीं. 27 अप्रैल 2003 में उन्होंने सॉफ्टवेयर इंजीनियर जीएस रघु से शादी की थी.

ये भी पढ़ें:- मुंबई में मिथुन चक्रवर्ती के पिता ने ली आखिरी सांस, बेंगलुरु में फंस गए बॉलीवुड एक्टर!

आपको बता दें कि सौंदर्या का असली नाम सौम्या सत्यनारायण था. उन्होंने जब फिल्मी करियर में कदम रखा तो कई बड़े सुपरस्टार्स के साथ काम किया. यहां तक कि उन्होंने कई हिट फिल्में भी दी. साल 1992 की बात है जब सौंदर्या ने अपनी पहली डेब्यू फिल्म गंधर्व में काम किया. 12 साल के फिल्मी करियर में उन्होंने 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया. सौंदर्या ने तमिल से लेकर मलयालम, तेलुगू, कन्नड़ और हिंदी फिल्म में खूब नाम कमाया.  Soundaryaइसके साथ ही सौंदर्या फिल्म निर्माता भी थीं. यहां तक कि अभिनेत्री को बेस्ट फीचर फिल्म के लिए नेशनल अवॉर्ड भी मिल चुका था.

दरअसल सौंदर्या की पहली बॉलीवुड फिल्म महानायक अमिताभ बच्चन के साथ थी. 1999 में आई फिल्म सूर्यवंशम में सौंदर्या ने अमिताभ की पत्नी का रोल किया, और ये जोड़ी फिल्मी पर्दे पर सुपरहिट भी साबित हुई. अपनी एक्टिंग की बुलंदियों को छूते हे सौंदर्या ने बचपन के दोस्त सॉफ्टवेयर इंजीनियर जीएस रघु के साथ शादी के बंधन में बंधी.  Soundaryaएक्टिंग से लोगों के दिलो पर राज करने वाली सौंदर्या ने साल 2004 में बीजेपी को ज्वाइन कर लिया. इसी के सिलसिले में साल 2004 में 17 अप्रैल को वो प्रचार करने करीमनगर जा रही थीं.

इस दौरान सौंदर्या का हेलीकॉप्टर बेंगलुरू के जक्कुर एयरफील्ड से उड़ान भरकर जब 100 फीट तक पहुंचा अचानक क्रैश हो गया. इसके बाद इस घटना में सौंदर्या, उनके भाई और दो अन्य लोगों की मौत हो गई थी. ये घटना इतनी भयावह थी कि लाशों को पहचान पाना मुश्किल था.  Soundaryaकहते हैं कि मौत से पहले ही सौंदर्या ने अपने पिता के नाम पर बंगलूरू में अनाथ बच्चों के लिए 3 स्कूल शुरू किए थे. भले ही सौंदर्या इस समय दर्शकों के बीच नहीं हैं. लेकिन उनकी एक्टिंग आज भी लोगों के दिलों में तरोताजा है.

ये भी पढ़ें:- जिस नाक से परेशान थे किंग खान, उसी ने दिलाई पहली फिल्म, तब हेमा मालिनी ने कही थी बड़ी बात