मोटापा कम करने के चक्कर में ज़िन्दगी से हाथ धो बैठे ये 4 सितारें..

215

मोटापा एक ऐसी चीज होती है जिसे कम करने के लिए हर कोई मशक्कत करता है। कोई एक्सरसाइज करके कम करता है तो कोई डाइट प्लान करके अपने मोटापे को कम करता है। हालांकि, कई लोग ऐसे हैं जो खतरा मोड़ लेकर सर्जरी का सहारा लेते हैं। सितारों के लिए मोटापा होना उनकी स्टारडम को खत्म करता है। इसलिए सितारें अपने मोटापे को लेकर काफी सीरियस होते हैं और इसे कम करने के लिए एक्सरसाइज से लेकर सर्जरी तक का सहारा ले लेते हैं। हालांकि, इस सर्जरी के चलते कई सितारों ने अपनी जिंदगी को भी दांव पर लगा दिया और इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

यह भी पढ़े- KBC: शो में कंटेस्टेंट का संघर्ष देख भावुक हुए अमिताभ बच्चन, कह डाली दिल छू लेने वाली बात

मिष्टी मुखर्जी (Mishti Mukherjee)
पिछले दिनों ही साउथ एक्ट्रेस मिष्टी मुखर्जी का निधन हो गया है। उनकी मौत की वजह कीटो डायट बनी। वह अपने मोटापे को लेकर काफी दिनों से परेशान थी। mishti इसलिए उन्होंने कीटो डायट का सहारा लेकर वजन कम करने का सोचा लेकिन उन्हें क्या पता था कि ये कीटो डाइट उनकी जान ही ले लेगा।

आरती अग्रवाल (Aarti Agrawal)
साउथ की मशहूर अभिनेत्री आरती अग्रवाल ने भी अपने मोटापे के चलते इस दुनिया से अलविदा कह दिया। आरती ने चर्बी कम करने के लिए लिपोसक्शन सर्जरी करा ली थी, जिसके चलते उनकी मौत हो गई। aarti agrawal उन पर निर्माता निर्देशक का दबाव था कि वह अपनी अगली फिल्म के लिए मोटापा कम करे जिसकी वजह से उन्होंने सर्जरी का सहारा लिया। सर्जरी कराते वक्त उन्हें सांस लेने में दिक्कत हुई और वह न्यू जर्सी इलाज कराने पहुंची जहां उनकी मौत हो गई।

राकेश दीवाना (Rakesh Deewana)
राकेश दीवाना राउडी राठौर और डबल धमाल जैसी फिल्मों में नजर आ चुके थे। राकेश ने भी अपना मोटापा कम करने के लिए सर्जरी का सहारा लिया और इसी सर्जरी की वजह 48 साल की उम्र में राकेश का निधन हो गया। rakesh deewana सर्जरी के महज 4 दिन बाद ही इनका निधन हो गया था।

कवि कुमार आजाद (Kavi Kumar Azad)
तारक मेहता का उल्टा चश्मा के डॉ हाथी फेम कवि कुमार आजाद का भी निधन मोटापे को कम करने की वजह से हुआ। कवि कुमार का वजन 200 किलो था। कमाल की बात ये थी कि मोटापे की सर्जरी सफल रही थी और कवि ने 80 किलो वजन घटा भी लिया था kavi kumar azad लेकिन सर्जरी सक्सेसफुल होने के बाद भी वह शारीरिक रूप से बीमार रहने लगे थे और साल 2018 में उनका निधन हो गया।

यह भी पढ़े- पूर्व CBI निदेशक अश्वनी कुमार का सुसाइड नोट लगा पुलिस के हाथ, बताई आत्महत्या की असली वजह