Categories
मनोरंजन

CAA विरोध के बाद स्वरा भास्कर ने योगी सरकार पर लगाया गंभीर आरोप, बोली- छीन रहे हैं लोगों की नागरिकता

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर राजनीतिक मुद्दों पर खुलकर बोलती है। हाल ही में देश में नागरिकता संशोधन कानून पर जमकर बवाल हुआ। मोदी सरकार के इस फैसले के बाद विपक्ष ने सरकार का विरोध किया। तो वही स्वरा भास्कर ने भी इस पर सरकार के खिलाफ कई बयान दिए। लेकिन अब स्वरा भास्कर एक बार फिर नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में उत्तर प्रदेश की सरकार और पुलिस को घेर रही है। स्वरा भास्कर ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में उतरे प्रदर्शनकारियों पर हुए पुलिस बल पर सवाल उठाए है। इतना ही नहीं, स्वरा भास्कर ने सरकार पर लोगों के अधिकार छिनने का भी आरोप लगाया है।

स्वरा भास्कर ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लोगों के अधिकार छीन लिए गए है। पुलिस बल का प्रयोग कर रहे है लोगों को मारा-पीटा जा रहा है। प्रदेश में प्रदर्शन के दौरान ज्यादातर लोगों की जानें पुलिस की फायरिंग में गई है क्योंकि इसमें नियमों का पालन नहीं किया गया। ऐसी घटनाओं की मैं निंदा करती हूं। यूपी के पश्चिमी हिस्से में बड़ी संख्या में लोगों को बंदी बनाया गया है और ऐसा करने का मतलब हम पुलिस की कार्रवाई को जायज नहीं ठहरा सकते। इसके आगे स्वरा भास्कर ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बदला लेने की बात न्यायसंगत नहीं है। स्वरा के मुताबिक, अगर देश में कोई हिंसा कर रहा है तो उसके ऊपर केस दर्ज होना चाहिए। कार्रवाई सिर्फ कानून के अंदर रहते हुए होनी चाहिए। इसलिए भारतीय अदालतों से आवेदन है कि इसकी न्यायिक जांच हो। कानून के रखवाले कानून के दायरे से बाहर जा रहे हैं. इसकी स्वतंत्र जांच होनी चाहिए।

बता दें कि ये नागरिकता कानून के विरोध में और प्रदर्शनकारियों के समर्थन में स्वरा भास्कर पहली बार नहीं बोली। इससे पहले भी स्वरा भास्कर ने जामिया मिलिया इस्लामिया को छात्रों का प्रदर्शन में समर्थन किया था। तो मुंबई के अगस्त क्रांति में हुई रैली के बाद स्वरा भास्कर ने सोशल मीडिया पर कई ट्वीट किए थे। इस दौरान स्वरा भास्कर ने कहा था कि वह देश में जिन्ना प्रेमियों को सफल नहीं होने देंगी।

ये भी पढ़ें:-मुख्यमंत्री बनते ही उद्धव ठाकरे ने लिया बड़ा फैसला, स्वरा भास्कर ने की जमकर तारीफ, जानें पूरा मामला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *