सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में क्यों नहीं है डेथ टाइमिंग का जिक्र? महाराष्ट्र पुलिस पर उठे गंभीर सवाल  

69

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच जारी है। ईडी भी लगातार अभिनेता की महिला मित्र रिया चक्रवर्ती से पूछताछ कर रही है, जिसके बाद से इस पूरे मामले में कई बड़े खुलासे हो रहे हैं। अब इस पूरे मामले को लेकर अभिनेता के पिता केके सिंह के वकील विकास सिंह ने सुशांत मामले को लेकर जहां महाराष्ट्र सरकार पर गंभीर सवाल उठाए हैं तो वहीं दूसरी तरफ सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को लेकर भी बड़ा सवाल उठाया है।

ये भी पढ़े :सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर मुंबई पुलिस का बड़ा खुलासा, कहा-बिहार पुलिस को नहीं जांच का हक

अभिनेता के पिता केके सिंह के वकील विकास सिंह के मुताबिक, सुशांत के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डेथ टाइमिंग का उल्लेख नहीं किया गया, जो कई बड़े सवाल खड़े करती हुई नजर आ रही है। वकील विकास सिंह का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डेथ टाइमिंग एक अहम विवरण होता है, जिसमें यह स्पष्ट होता है कि मौत कब हुई है? वकील विकस सिंह ने सवाल उठाया है कि क्या उसे मारने के बाद फांसी दी गई थी या फिर उसकी मौत फांसी से हुई थी। यह सभी बातें मौत के समय को स्पष्ट करती है।

महाराष्ट्र पुलिस पर भी उठाए सवाल 
इसके साथ ही सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह ने इस पूरे मामले को लेकर महाराष्ट्र पुलिस पर भी गंभीर सवाल उठाए हैं। वकील विकास सिंह के मुताबिक, महाराष्ट्र पुलिस इस पूरे मामले में मिली हुई है। वो ठीक से जांच नहीं कर रही है और रही बात जहां तक एफआईआर दर्ज कराने की तो मुझे इस मामले को लेकर बिहार में एफआईआर दर्ज कराने का पूरा अधिकार है। वकील के मुताबिक, मेरी बेटी महज 10 मिऩट की दूरी पर थी, जब उन्होंने दरवाजा खोला था और बॉडी नीचे उतारी थी। इतना ही नहीं, दरवाजा तोड़ने से पहले ताला तोड़ने वाले को भी वहां से भेज दिया था। क्या यह सब स्थिति शक को पैदा नहीं करती है।

फॉरेंसिक रिपोर्ट में हुए अहम खुलासे 
उधर, सुशांत सिंह राजपूत की फॉरेंसिक रिपोर्ट आ गई है। बता दें कि  कलीना फॉरेंसिक लैब से टॉक्सिकोलॉजी, साइबर, लिजीचार मार्क, नेल सैंपलिंग, स्टमक वॉश रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, अभिनेता के शरीर में किसी प्रकार के चोट के निशान नहीं मिले हैं। नेल सैंपलिंग रिपोर्ट में भी किसी तरह के झपट्टे या फिर खींचने के निशाने नहीं मिले हैं। वहीं, उनके कपड़े में पड़ा सफेद रंग का दाग कुछ और नहीं बल्कि उनका सलाइवा था, जो उनके मुंह से झाग बनकर निकला था और बाद  में उनके कपड़े पर सूख गया था।

ये भी पढ़े :सुशांत सिंह मामले की CBI जांच से भड़के संजय राउत, बोले- राजनीति कर रही है बिहार सरकार