सुशांत की हत्या या आत्महत्या? अभिनेता की डायरी के 11 पन्नों ने उगले वो राज जिसका था इंतजार!

123

सकारात्मक सोच से लबरेज वो शख्स जो वर्तमान में ही भविष्य का खाका खींच दिया करता हो, जो जमीं पर रहकर फलक पर आशियाने बनाने का ख्वाब पालता हो, जो हर मुसिबत को बौना साबित कर अपनी मंजिल को पाने का शौक पालता हो। आखिर ऐसा शख्स वैसा कदम कैसे उठा सकता है? अभी यह सवाल हर किसी के जेहन में तैर रहा है। हम बात कर रहे हैं दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की। सुशांत की डायरी बरामद हुई है। उनकी डायर को देखकर ऐसा लगता है कि वे अपनी निजी जिंदगी को शब्दों में उतारने का शौक पालते थे और साथ ही साथ ही भविष्य का खाका भी वर्तमान में ही खींच कर दिया करते थे, लेकिन इन सबके बीच सुशांत की डायरी के वो आखिर 11 पन्ने कई राजों को बेपर्दा करते हुए नजर आ रहे हैं, जिससे यह साफ जाहिर हो रहा है कि दाल में जरूर कुछ काला है? आखिर ऐसा सकारात्मक कदम वाला व्यक्ति ऐसे कदम कैसे उठा सकता है?

ये भी पढ़े :सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर मुंबई पुलिस का बड़ा खुलासा, कहा-बिहार पुलिस को नहीं जांच का हक

यहां पर हम आपको बताते चले कि सुशांत अपने फिल्मी करियर से लेकर अपनी निजी लाइफ के बारे में बेहद बेबाकी से लिखते हुए नजर आ रहे हैं। वे लिख रहे हैं कि अपने करियर में वे अच्छा करना चाहते हैं। अपने काम को बेहतर बनाने की दिशा में हर वो कोशिश करना चाहते हैं, जो उनके काम को सफल बनाने मेंं कारगर साबित हो। साथ ही उनकी डायरी में 2020 का भी विजन साफ झलक रहा है। अपनी इस डायरी में उन्होंने अपनी बहन का भी जिक्र किया है। अपने परिवारों का जिक्र किया है। साथ ही अपने करियर के बारे में कई भावी योजनाओं के भी बारे में लिखा है।

वे अपनी डायरी में लिखते हैं कि, लोग मुझे समझें’। वे चाहते थे कि पब्लिक के बीच में अपना एक अलग खाका खींचे। अपनी डायरी में उन्होंने फिल्म की स्क्रिप्ट के बारे में लिखा है। हॉलीवुड और बॉलीवुड फिल्मों के बारे में लिखा है। अपने काम को बेहतर कैसे किया जाए इसका पूरा खाका वो अपनी डायरी में तैयार करते हुए दिख रहे हैं। वे अच्छे लेखकों का नेटवर्क तैयार कर एक अच्छी सिक्रप्ट तैयार करना चाहते थे। उन्होंने अपनी डायरी में अपनी फिल्मों को आगे ले जाने के बारे में लिखा है। अपनी डायरी में उन्होंने हॉलीवुड फिल्मों के बारे में लिखा है। उसकी पूरी योजना तैयार की है। साथ ही अपने परिवार में किसको क्या जिम्मेदारी देनी है, इसका भी जिक्र उन्होंने अपनी डायरी में किया है।

इसके साथ ही काम के दौरान होने वाली परेशानियों के बारे में भी उन्होेंने लिखा है। अपनी डायरी में उन्होंने यह भी लिखा है कि आखिर आप इन समस्याओं को कैसे कम कर सकते हैं। एक सबसे दिल छू देने वाली उन्होंने अपनी लिखी है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि कभी याद मत करो। दिल से महसूस करो और कैमरे के आगे बोल दो। उनकी डायरी को देखकर ऐसा लगता है कि इतना सकारात्मक इंसान वाला व्यक्ति आखिर ऐसा कदम कैसे उठा सकता है। फिलहाल अब तो यह जांच सीबीआई के पास जा चुका है। जांच के मुकम्मल होने के बाद ही इस पूरे मामले की हकीकत सबके सामने आ पाएगी।

ये भी पढ़े :सुशांत सिंह राजपूत केस में महेश भट्ट से DCP ने की सख्त पूछताछ, ढाई घंटे तक किए कई सवाल