सुशांत की संपत्ति पर पहली बार पिता ने ठोका दावा, कहा- ‘इस पर पहला हक मेरा’, जानें वजह

2462

सुप्रीम कोर्ट ने गत बुधवार को दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले को लेकर बड़ा फैसला दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने अब इस मामले की जांच का प्रभार सीबीआई को सौंप दिया है। सीबीआई अब इस मामले की जांच करेगी। कोर्ट के इस फैसले के बाद चौतरफा खुशी की लहर है। अभिनेता के प्रशंसक इसे सच की जीत बता रहे हैं। अब इसी बीच कोर्ट के फैसले के बाद सुशांत के पिता केके सिंह का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने सुशांत की संपत्ति के संदर्भ में कहा कि  सुशांत की संपत्ति पर पहला हक मेरा है। अभिनेता के पिता ने कहा कि मैं अपने बेटे की संपत्ति का कानूनी रूप से वारिस हूं।

ये भी पढ़े :सुशांत सिंह राजपूत का हुआ है मर्डर! सुब्रमण्यम स्वामी ने गिनाईं 26 बड़ी वजहें, देखें लिस्ट

इसके साथ ही अभिनेता के पिता केके सिंह ने कहा कि मैं उन सभी लोगों की सेवाओं को समाप्त करता हूं, जिनकी सेवाएं सुशांत ने ली थी। उन्होंने कहा कि मेरी सहमति के बगैर किसी भी वकील या सीए को सुशांत को रिप्रजेंट करने का हक नहीं है। बता दें कि केके सिंह का यह बयान ऐसे समय में सामने आया है, जब अभी हाल ही में कुछ वकील सामने आए थे, जिन्होंने खुद के सशांत द्वारा रखने की बात कही थी। सुशांत के पिता ने कहा कि बिना मेरी सहमति के किसी को सुशांत का प्रतिनिधित्व करने का हक नहीं है। उसका प्रतिनिधिनत्व सिर्फ मैं करूंगा।

इस बात की जानकारी बकायदा सुशांत के पिता ने प्रेस नोट में दी है, जिसमें उन्होंने कहा कि  ‘मैं यह भी साफ कर देता हूं कि मैं और मेरी बेटियाें ने एसकेवी लाॅ ऑफिसेज, काॅमर्शियल, वरुण सिंह काे बताैर वकील के रूप में अधिकृत किया है। साथ ही सीनियर वकील विकास सिंह मेरे परिवार काे रिप्रजेंट करने के लिए अधिकृत हैं। काेई दूसरा व्यक्ति जाे परिवार का दावा कर रहा है, उन्हें मेरी सहमति नहीं है।

कल ही आया था कोर्ट का फैसला  
बता दें कि इससे पहले गत बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह मामले की जांच का प्रभार सीबीआई को सौंप दिया था। कोर्ट के इस फैसले के बाद अभिनेता के प्रशंसकों के बीच खुशी की लहर है। ध्यान रहे कि गत दिनों जब बिहार सरकार की अनुशंसा के आधार पर केंद्र सरकार ने इस मामले की जांच का प्रभार सीबीआई को सौंपा था तो  महाराष्ट्र सरकार ने इसका विरोध करते हुए कोर्ट का रूख किया था, जिसके बाद अब कोर्ट ने इस पूरे मामले को लेकर बड़ा फैसला सुनाते हुए इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी है।

ये भी पढ़े :सुशांत सिंह राजपूत मामले को लेकर बुरी फंसी महाराष्ट्र सरकार, उठ रहे हैं अब ऐसे गंभीर सवाल