CBI पूछताछ में सिद्धार्थ पिठानी ने उगल दिया रिया के ड्रग कनेक्शन का राज, लिए इनके नाम!

581

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आकस्मिक मौत की जांच सीबीआई की स्पेशल टीम कर रही है, इस दौरान सीबीआई ने सुशांत केस से जुड़े कई रहस्य सुलझा लिए है। बता दें कि पिछले एक सप्ताह से सीबीआई के अधिकारी मुंबई में सुशांत केस की तहकीकात कर रहे हैं। हालांकि इससे पहले मुंबई पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुटी थी लेकिन जिस मुंबई पुलिस पर लोगों को भरोषा था, उसने ही भरोषे को तार-तार कर दिया। जिसके बाद मुंबई पुलिस सवालों को घेरे में आ खड़ी हुई। वहीं सोशल मीडिया पर लगातार उठ रही सीबीआई जांच की मांग पर इस केस को केंद्र ने सीबीआई को सौंप दिया। सूत्रों के अनुसार सीबीआई ने सुशांत केस में जिन लोगों को अभियुक्त बनाया है, उनसे पूछताछ शुरू कर दी गई है। इस बीच रविवार को सुशांत के करीबी दोस्त सिद्धार्थ पिठानी से सीबीआई ने पूछताछ की तो कई राज खुलकर सामने आ गए।

ये भी पढ़ें:-सुशांत केस में मर्डर एंगल! CBI के इन 10 सवालों पर घिरी रिया चक्रवर्ती, हो सकती है जेल?

बताया जा रहा है कि सिद्धार्थ ने सुशांत की कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के बारे में सीबीआई के सामने सारी पोल खोल दी। सिद्धार्थ ने यह भी बताया कि रिया तक ड्रग्स पहुंचती थी। कौन-कौन रिया को ड्रग्स सप्लाई करते थे। सूत्रों के अनुसार,

सिद्धार्थ ने सीबीआई को ऐसे राज बताने शुरू किए, जिनसे अभी तक हर कोई अनजान था। सीबीआई पूछताछ में सिद्धार्थ पिठानी ने बताया कि रिया चक्रवर्ती डायरेक्ट ड्रग्स तस्करों के संपर्क में नहीं थी। रिया परोक्ष रुप से ऐसे ड्रग्स तस्करों के संपर्क में थीं, जिनके बॉलीवुड में अच्छे संबंध हैं, और इस नेटवर्क को अच्छे से समझते हैं।

पीठानी के मुताबिक, गौरव आर्या से पूछताछ के बाद कई और चीजें साफ हो पाएंगी. सूत्रों के मुताबिक, रिया चक्रवर्ती कभी सीधे ड्रग्स और मारियुआना नहीं खरीदती थीं, बल्कि वह नीरज, दीपेश, सैमुअल मिरांडा और केशव आदि से ड्रग्स मंगवाया करती थी।

मालूम हो कि सुशांत केस में ड्रग एंगल सामने आने के बाद सीबीआई रिया और उनके दोस्तों से पूछताछ कर रही है। चूंकि ऐसा कहा जा रहा है कि सुशांत को रिया ड्रग दिया करती थीं। इस पूरे मामले में सीबीआई की एक टीम आज NCB की टीम से भी मुलाकात करने जा रही है।

ये भी पढ़ें:-सुशांत मौत पर हुआ बड़ा खुलासा! रिया करती थीं बांद्रा DCP को फोन, इस सिलसिले में होती थी बात