कोरोना वायरस के कारण संपूर्ण भारत में लॉकडाउन (lockdown) है और इस वजह से फिल्म और टीवी इंडस्ट्री पर भी ताले लग गए हैं. दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए पुराने टीवी सीरियल्स का प्रसारण हो रहा है. ऐसे में दर्शक भी अपने स्टार्स के साथ पुरानी यादों को ताजा कर रहे हैं. इसलिए हम भी अपने पाठकों को बॉलीवुड स्टार्स (Bollywood stars) के कुछ अनकहे पुराने किस्सों के बारे में लगातार बता रहे हैं. आज हम आपके लिए लेकर आए शाहरुख खान का एक किस्सा जो उनकी नाक से जुड़ा है. इस किस्से को जानने के बाद आपके चेहरों पर एक मुस्कान तो जरूर आएगी.

15 साल की उम्र में पिता को मृत्यु
शाहरुख खान (shahrukh khan) उस समय सिर्फ 15 साल के ही थे जब उनके पिता का कैंसर के कारण निधन हो गया था. जिसका असर एक्टर पर काफी ज्यादा समय तक रहा था. यह बात शायद ही कोई जानता है कि, किंग खान के पिता एक वकील के साथ-साथ एक स्वतंत्रता सेनानी भी रहे थे और इस दौरान उन्हें जेल भी जाना पड़ा था. शाहरुख के पिता ने राजनीति में अपनी किस्मत आजमाते हुए मौलाना अबुल कलाम आजाद के खिलाफ चुनाव लड़ा था मगर उनकी किस्मत ने साथ नहीं दिया और वह हार गए. इसके बाद उन्होंने खुद की किस्मत बनाने के लिए काफी संघर्ष किए मगर असफल साबित हुए.

शाहरुख का ड्रामा स्कूल से करीबी रिश्ता
जब किंग खान छोटे थे तब वह अक्सर अपने पिता के साथ नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा जाते थे. क्योंकि, यहां उनके पिता 1974 तक एक मेस चलाते थे इस वजह से किंग खान इस स्कूल से काफी करीब थे. स्कूल में शाहरुख अक्सर इब्राहिम अलकाजी के साथ कई कलाकारों को देखते थे और नाटकों की रिहर्सल में भी काफी दिलचस्पी रखते थे. इसी स्कूल में लगातार आने-जाने के कारण किंग खान के अंदर भी एक्टिंग के जुनून ने जन्म लिया और आज वह एक जाने-माने बड़े सुपरस्टार बन चुके हैं.

1991 में की पहली फिल्म
शाहरुख ने अपना मुकाम हासिल करने के लिए काफी संघर्ष किया है उन्होंने इडंस्ट्री में साल 1991 में हेमा मालिनी की फिल्म ‘दिल आशना है’ से कदम रखा था. मगर मुख्य किरदार उन्होंने फिल्म दीवाना में निभाया था तो 25 जून 1992 में रिलीज हुई थी.dil ashna hai दिल आशना है की शूटिंग के समय ही शाहरुख ने गौरी से शादी की थी. बॉलीवुड में शाहरुख के 25 साल पूरे होने पर समर खान की किताब ‘SRK-25 इयर्स ऑफ लाइफ’ लॉन्च हुई थी. इसी दौरान एक्टर ने अपना एक मजेदार किस्सा सुनाया था.

नाक की वजह से मिली पहली फिल्म
25 साल पूरे होने की खुशी में जब किताब लॉन्च हुई तो शाहरुख ने बताया था कि, ‘जब मैं मेरी पहली फिल्म दिल आशना है जिसे हेमा जी प्रोड्यूस कर रही थी उसकी शूटिंग कर रहा था.srk तब उन्होंने मुझसे कहा था कि, तुम्हारी नाक के कारण ही तुम्हें यह फिल्म मिल रही है. क्योंकि, यह सबके अलग है. हेमा जी के मुंह से ऐसी बातें सुनकर मैं हैरान रह गया था क्योंकि, जिस नाक को सबसे छुपाता हुई घूमता था उसी नाक को हेमा जी ने पसंद किया था.’

जीवन के उतार-चढ़ावों से मिली सीख
इस दौरान किंग खान ने आगे कहा था कि, ‘मैं उन लोगों में एक हूं जिसे ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी (Hema malini) से कॉम्पलीमेंट मिला है. क्योंकि, यह हर किसी को नहीं मिलता.’ इसके बाद उन्होंने अपने करियर के बारे में बात करते हुए कहा कि, 25 साल पहले जब इस इडंस्ट्री में कदम रखा तो एक आम लड़का था और मेरी आंखों में भी सपने और कुछ पाने का जुनून था. उन्होंने कहा कि, इस मुकाम को पाने में बहुत सारे उतार-चढ़ावों का सामना करना पड़ा. मगर इन्हीं से सीख लेकर मैंने बहुत कुछ सीख लिया’

ये भी पढ़ेंः- हेमा मालिनी की वजह से शाहरुख-गौरी की सुहागरात हो गई थी बर्बाद, ऐसे लगाया था रोड़ा