कंगना के बाद अक्षय कुमार पर जमकर बरसे संजय राउत, सामना पत्र के जरिए लगाया ये बड़ा आरोप

101
Sanjay raut on akshay

सुशांत सिंह राजपूत के मौत को लेकर चल रही बहस का असर अब कंगना रनौत की निजी जिंदगी पर भी देखने को मिल रहा है. एक्ट्रेस और सांसद के बीच शुरू हुई ये जुबानी जंग अब महाराष्ट्र सरकार के लिए बड़ा मुद्दा बन गया है. हर दिन सामना पत्र के जरिए शिवसेना अपनी भड़ास निकालते हुए दिखाई दे रही है. इसी बीच कंगना और संजय राउत की बहस में बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार को भी घसीट लिया गया है. जी हां शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में संजय राउत ने सीधा अक्षय कुमार पर तंज कसा है. सांसद का आरोप है कि जिस वक्त एक्ट्रेस ने मुंबई का अपमान किया उस वक्त अक्षय कुमार जैसे स्टार्स इस शहर के सपोर्ट में आगे नहीं आए. उन्होंने ये भी कहा है कि जब कोई मुंबई का अपमान करता है तो ये सितारे गर्दन झुकाकर चुप रहते हैं.

ये भी पढ़ें:- संजय राउत पर फिर बरसीं कंगना, बोलीं- जब आमिर, नसीर ने कहा देश में लगता है डर, तब उन्हें नहीं कहा गया ‘हरामखोर’

आपको याद दिला दें बीते दिनों कंगना ने मुंबई शहर की तुलना पीओके से कर डाली थी. उसी के बाद महाराष्ट्र सरकार में जैसे भूचाल आ गया था. यहां तक कि बदले के भाव में कंगना रनौत के दफ्तर पर बीएमसी का बुल्डोजर तक चलवा दिया गया था. लेकिन कंगना रनौत इसके बाद भी चुप नहीं रहीं. उन्होंने उद्धव ठाकरे को जमकर खरी-खोटी भी सुनाई थी.

अक्षय कुमार पर भड़के संजय साउत
इस बीच अब सामना के जरिए लगातार सांसद संजय राउत अपनी भड़ास निकाल रहे हैं. हाल ही में उन्होंने लिखा है कि एक अभिनेत्री मुंबई में ही रहकर महाराष्ट्र के सीएम के लिए तू-तड़ाक जैसे शब्दों का इस्तेमाल करती है. सीधा चुनौती देती है लेकिन ऐसी बातों को लेकर महाराष्ट्र की जनता की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आती है. आखिर ये कैसी एकतरफा आजादी है? इसके साथ ही उन्होंने ये भी लिखा है कि, ‘कम-से-कम आधे हिंदी फिल्म जगत को तो मुंबई के इस अपमान की खिलाफत करनी चाहिए थी. कंगना की सोच इस पूरे बॉलीवुड जगत की सोच नहीं है, कम से कम इस तरह बोलना तो चाहिए थे. अक्षय कुमार जैसे बड़े सितारों को तो आगे आना चाहिए था. क्योंकि मुंबई ने उन्हें भी दिया है. मुंबई ने यहां पर सभी को दिया है. इसके बावजूद मुंबई को लेकर आभार प्रकट करने में कुछ लोगों को परेशानी होती है. संजय राउत ने ये भी लिखा है कि दुनियाभर के बड़े रईसों के घर मुंबई में ही है. लेकिन जब भी मुंबई शहर का कोई अपमान करता है तो ये सारे गर्दन झुकाकर बैठ जाते हैं.’

मुंबई पर पहले महाराष्ट्र का अधिकार
इतना ही नहीं राउत ने आगे सीधा बॉलीवुड पर निशाना साधते हुए लिखा है कि, ‘मुंबई का महत्व केवल इस्तेमाल और पैसा कमाने के लिए ही है. इसके बदले चाहे हर दिन मुंबई का बलात्कार भी होता रहे तो चलेगा. लेकिन ऐसे लोगों को एक बात जरूर याद रखनी चाहिए कि ‘ठाकरे’ के हाथ में महाराष्ट्र की कमान है. ऐसे में सड़क पर आकर भूमिपुत्रों के स्वाभिमान के लिए राड़ा वगैरह करने की जरूरत आज के दौर में नहीं है. क्योंकि महाराष्ट्र और भूमिपुत्रों का भाग्यचक्र मुंबई के आसपास ही चक्कर लगा रहा है. मुंबई भले ही देश या दुनिया का हो लेकिन पहला अधिकार इस पर महाराष्ट्र का ही है.’

ये भी पढ़ें:- कंगना का दफ्तर तोड़े जाने से खफा हुई कांग्रेस? जानें इस सवाल पर क्या बोले संजय राउत