boby

बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार अभिनेता ऋषि कपूर ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। 30 अप्रैल को ऋषि कपूर का मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया। जिसके बाद बॉलीवुड से लेकर फैंस में मायूसी नजर आई। सोशल मीडिया पर तमाम लोग ऋषि कपूर के शानदार अभिनय को याद कर रहे है। जहां हर तरफ उनके रोमांस की चर्चा है तो वही इसी बीच ऋषि कपूर की सुपरहिट फिल्म ‘बॉबी’ और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का एक कनेक्शन भी सामने आया है। जिसे सुनकर आप चौंक जाएंगे। दरअसल इतिहासकार रामचंद्र गुह ने अपनी किताब ‘इंडिया आफ्टर गांधी’ फिल्म ‘बॉबी’ और इंदिरा गांधी के कनेक्शन का खुलासा किया है। जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे।

इस किताब में देश में लगे आपातकाल के दौर का जिक्र किया गया था। जिस समय देश के तमाम लोग आज की तरह ही घर में कैद थे। किसी को भी घर से बाहर निकलने इजाजत नहीं थी लेकिन राजनीति उस समय चरम पर थी। इंदिरा गांधी के तमाम प्रतिद्वंदियों ने उन्हें चुनौती दे रहे थे। जिसमें कांग्रेस से अलग हुए बाबूजी यानी की जगजीवन राम भी सबसे आगे थे। उन दिनों जगजीवन राम ने अपनी नई पार्टी बनाई और फिर जनता दल के साथ जा मिले। दूसरी तरफ इसी दौरान लोग ऋषि कपूर की फिल्म के लिए पागल थे। हालत ये थी कि जब भी ये फिल्म दूरदर्शन पर आती थी तो बाहर सन्नाटा हो जाता था। इसी वजह से जगजीवन राम को रोकने के लिए ही इंदिरा गांधी ने ऋषि कपूर की फिल्म ‘बॉबी’ का सहारा लिया।

हुआ यूं था कि आपातकाल में ही जगजीवन राम ने छह मार्च को एक विशाल जनसभा का आयोजन किया था। जिसमें हजारों लोगों के शामिल होने की बात कही जा रही है लेकिन इंदिरा गांधी किसी भी तरह इस जनसभा को फेल करना चाहती थी। जिस वजह से कांग्रेस ने लोगों के लिए दूरदर्शन पर उस समय की सुपरहिट रोमांटिक फिल्म ‘बॉबी’ का प्रसारण दूरदर्शन कर करवाया। ताकि कोई भी जनसभा में न जाए। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। दिल्ली की आधी आबादी ने ऋषि कपूर की फिल्म को छोड़ जनसभा में जाने का फैसला लिया। जिस वजह से अगले दिन के अखबार में नेता से ऋषि कपूर की हार दिखाई गई। एक अखबार में हेडलाइन बनी आज बाबूजी ने ‘बॉबी’ पर जीत हासिल की।

ये भी पढ़ें:-ऋषि कपूर की एक और तमन्ना रह गई अधूरी, मरने से पहले इस वजह से जाना चाहते थे पाकिस्तान