Categories
मनोरंजन

CAA को लेकर भड़कीं ऋचा चढ्डा, बोलीं- जब तक नोटों पर गांधी हैं तब तक सवाल पूछने का हक है

नागरिकता संशोधन बिल पर मचे घमासान पर एक तरफ जहां आम लोग उग्र हो रहे हैं तो वहां इस एक्ट को लेकर लगातार बॉलीवुड के सितारे बयानबाजी कर रहे हैं. कभी कोई सरकार का समर्थन करते हुए दिखाई देता है, तो कभी कोई इस कानून के विरूद्ध बोलते हुए दिखाई देता है. बॉलीवुड के ये सितारे भले ही अपने ट्वीट को लेकर ट्रोल हो जाते हैं, लेकिन फिर भी लगातार ये बयान देने से बाज नहीं आते. एक तरफ जहां देश के हालात नाजुक बने हुए हैं तो वहीं दूसरी तरफ लोग इनको समझाने की बजाय अपनी पब्लिसिटी में लगे हुए हैं.

बॉलीवुड की बोल्ड एक्ट्रेस ऋचा चढ्डा किसी के पहचान की मोहताज नहीं हैं. आए दिन वो बड़ी बेबाकी से अपनी बातों को रखती आई हैं. जब भी कोई राजनीति से जुड़ा मुद्दा होता है, तब ऋचा खुलकर लोगों के सामने आती हैं. हाल ही में उन्होंने सीएए कानून को लेकर कहा कि जब तक नोटों पर गांधी जी की तस्वीर है, तब तक हमें सवाल पूछने का हक है. बता दें कि CAA पर अपनी बात रखने के लिए ऋचा देहरादून पहुंचीं थी. यहां पर उन्होंने बड़ी बेबाकी से बात की और कहा कि हम इस देश में रहते हैं, और हम गांधीवादी हैं और जब तक भारतीय नोटों पर गांधी जी की तस्वीर हैं तब तक तो सरकार हमें बोलने दे. हमें देश के हर मसले पर सवाल पूछने का हक है.

बता दें कि ऋचा यहीं चुप नहीं हुईं जब उनसे मीडिया द्वारा सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि जबसे ये बिल पास हुआ है, देश में हालात असामान्य हो गए हैं. पूरे देश में लोग विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. लगातार पुलिस का बर्बरता वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इतना ही नहीं आगे मोहतरमा ने ये भी कहा कि सरकार के इस बिल का क्या फायदा, जब पूरे देश में हिंसा हो रही है. उन्होंने ये भी कहा कि हम यहां के नागरिक होने के साथ-साथ टैक्स भी भर रहे हैं. इसलिए सरकार से सवाल पूछने का हमारा पूरा हक है.

https://twitter.com/RichaChadha/status/1208263756817543168

बता दें कि अंत में ऋचा ने लोगों से अपील भी की कि वो हिंसा पर न उतारू हों. इसके अलावा ऋचा ने इस एक्ट को लेकर कई ट्वीट भी किए हैं. जिसमें उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है.

ये भी पढ़ें:- निर्मला सीतारमण पर भड़कीं ऋचा चड्ढा, लिखा- ‘इन्हें केक खाने दो, ये प्याज नहीं खातीं’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *