गायब रिया चक्रवर्ती वापस लौटी, CBI जांच पर सवाल उठाते हुए बता दिया ‘अवैध’

426

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत को दो महीने होने वाले हैं. लेकिन उनकी मौत का असली कारण अब तक सामने नहीं आया है. लेकिन इस बीच हुए कई बड़े खुलासों से बहुत सारे लोगों को पोल खोल चुकी है. बहरहाल अब ये मामला सीबीआई के हाथों में है और CBI ने उसी रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) के खिलाफ केस दर्ज किया है जिसने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से सीबीआई जांच की मांग की थी. CBI ने रिया के साथ उनके भाई और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 306, 341, 342, 420, 406 और 506 के तहत मामला दर्ज किया है. जिसके बाद पहली बार रिया ने मुंह खोला है और सीबीआई जांच को अवैध और फेडरलिज्म के खिलाफ बता दिया है.

CBI जांच अवैध
रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) ने सीबीआई (CBI) जांच को अवैध बताते हुए कहा कि, जब तक सर्वोच्च न्यायालय अपना फैसला नहीं सुनाता तब तक CBI को इस मामले से दूर ही रहना चाहिए था. एनडीटीवी की एक रिपोर्ट की मानें तो, गुरुवार की शाम को ही रिया एक बयान सामने आयाRhea-Chakraborty-CBI जिसमें उन्होंने सीबीआई जांच को किसी भी ज्ञात कानूनी सिद्धांतों से परे और राष्ट्र के संघीय ढांचे को प्रभावित करने वाला और अवैध बताया है. अब सवाल ये कि, जो रिया पहले खुद इस मामले पर CBI जांच चाहती थी अब वो इस तरह की बातें क्यों कर रही है? वैसे रिया के इस बयान से साफ है कि, वह वापस लौट चुकी हैं.

मुंबई पुलिस करती जांच
अपने बयान में रिया चक्रवर्ती ने फिर से उन्हीं बातों को दोहराया कि, केस की जांच मुंबई पुलिस को ही करनी थी क्योंकि सुशांत की मौत मुंबई में हुई थी. पर बिहार पुलिस ने मामले को ट्रांसफर तो किया लेकिन सीबीआई को सौंप दिया. रिया के मुताबिक, CBI को इस केस की जांच करने का अधिकार नहीं है.

महाराष्ट्र सरकार ने नहीं दी अनुमति
जानकारी के लिए बता दें, केंद्र के आदेश के बाद सुप्रीम कोर्ट ने केस पर सुनवाई करते हुए सभी पक्षों को अपने जवाब दाखिल करने को कहा है. लेकिन, महाराष्ट्र सरकार ने अब तक सीबीआई जांच को मंजूरी नहीं दी है. जब तक राज्य की सरकार परमिशन नहीं देगी तब तक CBI राज्य में लोगों से पूछताछ नहीं कर सकती. ऐसे में यहां बड़ा पेंच है क्योंकि, महाराष्ट्र सरकार शुरू से ही इस मामले पर सीबीआई जांच से इनकार करती आई है. ऐसे में देखना होगा कि, महाराष्ट्र सरकार कौन-सा अगला कदम उठाती है.

14 जून को हुई थी मौत
गौरतलब है कि, बीते 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत अपने बांद्रा स्थित फ्लैट पर मृत पाए गए थे. सुशांत सिंह को फंदे से लटकते हुए किसी ने नहीं देखा था. पर मामले को सुसाइड और डिप्रेशन का बता दिया गया था. जबकि, सुशांत के करीबीयों ने कहा है कि, सुशांत ऐसा नहीं कर सकते और कई बड़े नेताओं ने सुशांत की मौत को हत्या बताया है. यही वजह है कि, 40 दिनों के बाद जब पिता केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई तो वह बौखला गई और उसी दिन से भागी-भागी फिर रही हैं.

ये भी पढ़ेंः- बिहार पुलिस के हाथ लगी अहम जानकारी, रिया से डरने लगे थे सुशांत, इस बात से थे परेशान