बॉबी देओल की पहली वेब सीरीज का ट्रेलर देख भड़के लोग, सोशल मीडिया पर काटा बवाल

276
boby

बॉलीवुड एक्टर बॉबी देओल ने काफी लंबे समय बाद फिल्मों में कमबैक किया है। ‘रेस 3’ और ‘हाउसफुल 3’ फिल्म के जरिए ही वह एक फिर पर्दे पर नजर आए है लेकिन अब एक्टर बॉबी देओल डिजीटल प्लेटफॉर्म पर अपना डेब्यू करने जा रहे है। दरअसल बॉबी देओल अपनी पहली वेब सीरीज ‘आश्रम’ के जरिए इंटरनेट की दुनिया में कदम रखने जा रही है। जिसका ट्रेलर रिलीज हो गया है लेकिन अपनी पहली वेबसीरीज के जरिए ही बॉबी देओल विवादों में फंस गए। सोशल मीडिया पर वेब सीरीज ‘आश्रम’ का ट्रेलर रिलीज होने के बाद यूजर्स में काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है। जिस वजह से हजारों लोगों ने इस सीरीज को बैन करने की मांग की है।

दरअसल लोगों का आरोप है कि इस वेब सीरीज के जरिए हिंदुओं की भावनाएं आहत हुई है। इसी वजह से ट्विटर पर बुधवार सुबह से ही #BanAashramWebSeries हैशटैग जमकर ट्रेंड कर रहा है। सोशल मीडिया पर इस वेब सीरीज की रिलीजिंग रोकने की मांग उठी है। बता दें कि वेब सीरीज के ट्रेलर में दिखाया गया है कि आश्रम में एक बाबा भक्तों की आस्था के साथ गलत काम करता है। वेब सीरीज में बॉबी देओल ‘बाबा निराला काशीपुर वाला’ के किरदार में है। जो एक आश्रम चलाते है और इस आश्रम में आने वाले कोई भी लकड़ी कभी भी बाहर नही जा पाती थी क्योंकि वह बाबा के जाल में फंसकर रह जाती थी। इस वेब सीरीज में ‘भक्ति या भ्रष्टाचार’ जैसे सवाल खड़े हुए है। जो सालों से बने हुए है।

हालांकि, इस वेब सीरीज के ट्रेलर की शुरूआत में निर्देशक प्रकाश झा ने पहले ही एक डिसक्लेमर जारी कर दिया था। जिसमें इस बात को साफ किया गया कि वेब सीरीज का इरादा किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का इरादा नहीं है लेकिन फिर भी लोगों का आरोप है कि एक डिस्क्लेमर चलकर इस तरह कंटेंट नहीं दिखाया जा सकता। एक यूजर ने लिखा, ‘ओटीटी प्लेटफॉर्म के कंटेंट में खुलेआम हिंसा, अपराध जैसी चीजों को दिखाया जा रहा है और उन्हें किसी सर्टिफिकेशन की भी जरूरत नहीं है क्योंकि केबल टेलीविजन एक्ट 1955 इंटरनेट पर दिखाए जाने वाले इस तरह के कंटेंट पर लागू नहीं होता।’