इस वजह से बी-ग्रेड फिल्म में काम करती थीं माधुरी दीक्षित, निर्देशक ने रखी थी ऐसी शर्त

387
Madhuri Dixit worked in B-grade films

90’s के दौर की सबसे खूबसूरत एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित ने ‘तेजाब’ (Tezaab) और ‘राम लखन’ (Ram Lakhan) जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम किया है. इन फिल्मों की वजह से धक-धक गर्ल रातों-रात सुपरस्टार बन गई थी. लेकिन माधुरी भी उन्हीं कलाकारों में से रही जिन्हें करियर के शुरुआत में बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. माधुरी की लाइफ में एक दौर ऐसा भी आया जब उन्हें बी-ग्रेड (B-Grade) फिल्मों में काम करना पड़ा. इस बात का जिक्र सीनियर मोस्ट फिल्म पत्रकार अली पीटर जॉन ने अपनी किताब ‘विट्नेसिंग वंडर्स’ में किया है.

बी-ग्रेड फिल्मों में काम

किताब के मुताबिक, माधुरी को अपने शुरुआती करियर में जब फिल्में नहीं मिली तो उन्होंने बी-ग्रेड फिल्मों की तरफ रुख किया. इसी दौरान एक स्टूडियो में उन्हें फैशन फोटोग्राफर राकेश श्रेष्ठ (Rakesh Shrestha) ने देखा और उन्हीं के बदौलत एक्ट्रेस के करियर को एक नया मोड़ मिला.madhuri-dixit hotजैसा कि, हम सब जानते हैं माधुरी दीक्षित को डांस में महारत हासिल ही और उन्होंने महज 9 साल की उम्र में महाराष्ट्र सरकार द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में भरतनाट्यम (Bharatnatyam) और कथक (Kathak) का पुरस्कार जीता था.

एक कमरे में परिवार संग रहती थी माधुरी

जब माधुरी छोटी थी तो उनके परिवार की माली हालत कुछ ठीक नहीं थी. इसी वजह से माधुरी अपने माता-पिता के साथ वन-रूम फ्लैट में रहती थीं. लेकिन माधुरी के भीतर डांस बचपन से ही था. या कहें कि, इसी डांस ने उन्हें पहचान दिलाई है. माधुरी जिस जगह रहती थीं वहीं राइटर-डायरेक्टर गोविंद मुनीस ने उन्हें देखा और समझ लिया कि वह एक टैलेंटेड लड़की है जिसमें अभिनेत्री बनने की कला है.madhuri-dixit गोविंद मुनीस ने फौरन इस बारे में माधुरी के माता-पिता से बात की तो उन्होंने अपनी आर्थिक स्थिति को देखते हुए हां कह दिया. माधुरी को भी राजश्री प्रोडक्शंस (Rajshri Productions) की फिल्म ‘अबोध’ मिल गई. लेकिन ये फिल्म बहुत बुरी तरह फ्लॉप हुई. इस कारण माधुरी को फिल्में नहीं मिल रही थी.

डायेरक्टर ने किया बुरा बर्ताव

पहली फिल्म फ्लॉप देने के बाद जब कोई भी प्रोडक्शन हाउस या डायेरक्टर माधुरी को फिल्म देने से कतरा रहा था तो माधुरी को मजबूरी में बी-ग्रेड फिल्मों में काम करना पड़ा. डायरेक्टर सुदर्शन रतन ने माधुरी को फिल्म ‘मानव हत्या’ (Manav Hatya) के लिए साइन किया जिसमें हीरो शेखर सुमन (Shekhar Suman) थे.Shekhar Suman with madhuri B-grade चूंकि, फिल्म बी-ग्रेड थी और डायरेक्टर सेक्स जैसी चीजों पर फिल्म बनाता था तो सेट पर भी माधुरी के साथ बुरा बर्ताव होता था और डायरेक्टर की डिमांड थी कि, माधुरी सेक्स जैसे बोल्ड सीन दे. लेकिन ऐसा करने से एक्ट्रेस ही नहीं बल्कि उनके माता-पिता ने भी साफ मना कर दिया और बाद में माधुरी को उनके छह महीने के काम की फीस भी नहीं दी गई. फिल्म रूकने लगी तो फाइनेंसर्स ने भी हाथ खींच लिए और फिल्म कभी पूरी हो ही नहीं पाई.

माधुरी ने नहीं किया जिक्र

पत्रकार अली पीटर की किताब के मुताबिक, फिल्म अधूरी रहने के बावजूद जब माधुरी एक स्टार बनी तो कुछ टीवी चैनल्स पर लेटनाइट इस फिल्म को वैसा ही दिखाया गया जैसी बनी थी. पर माधुरी ने कभी-भी शेखर सुमन के साथ काम करने का जिक्र नहीं किया. लेकिन इसी फिल्म से माधुरी की किस्मत ने नया मोड़ लिया था. उस दौर के सबसे प्रभावशाली और फेमस फोटोग्राफर राकेश श्रेष्ठ ने जब माधुरी को देखा तो फौरन उनके माता-पिता के पास गए और पूछा कि क्या वह माधुरी की कुछ तस्वीरें ले सकते हैं.madhuri dixit B-grade फोटोग्राफर जाना-माना था तो माता-पिता ने कहा कि हमारे पास आपके जैसे महंगे और बड़े फोटोग्राफर को देने लायक फीस नहीं है. इस पर राकेश ने कहा कि, वह फ्री में माधुरी की तस्वीरें खीचेंगे और पोर्टफोलियो बनाएंगे. इसके बाद फोटोग्राफर ने खुद जाकर निर्माता-निर्देशक सुभाष घई (Subhash Ghai) को माधुरी का पोर्टफोलियो दिखाया.

मुक्ता आर्ट्स की नई हीरोईन

वैसे तो सुभाष घई ने माधुरी दीक्षित को एक-दो बार देखा था लेकिन पोर्टफोलियो में माधुरी को देखकर वो हैरान रह गए और सबके सामने ऐलान कर दिया कि, मुक्ता आर्ट्स (Mukta Arts) की नई हीरोइन मिल गई. इसके बाद ही घई ने उनके माता-पिता को बुलाया और तीन फिल्मों के लिए एक विशेष अनुबंध पर उनके हस्ताक्षर करवाए.madhuri-dixit माधुरी को साइन करने के बाद घई ने फिल्मी वीकली न्यूजपेपर स्क्रीन में छह पेज का विज्ञापन दिया. जिन पर माधुरी की आंखें, होंठ, नाक, माथा और कान की तस्वीरें थी पर माधुरी की पूरी तस्वीर नहीं थी.

माधुरी ने रखी थी शर्त

विज्ञापन देखने के बाद सिर्फ लोगों में ही नहीं बल्कि पूरी इंडस्ट्री में खूबसूरत लड़की की चर्चा होने लगी थी. हर किसी के मन में जिज्ञासा थी कि, आखिर घई किस लड़की को लॉन्च करने जा रहे हैं. पर धीरे-धीरे माधुरी के बारे में सबको पता चल गया. इसके बाद कई निर्देशकों ने माधुरी को अपनी फिल्मों के लिए साइन किया.Madhuri-Dixit-hot-photos लेकिन माधुरी दीक्षित ने शर्त रखी कि, पहले वह घई के साथ तीन फिल्में करेंगी क्योंकि, इसका जिक्र उस अनुबंध पर था जिस पर घई ने एक्ट्रेस के माता-पिता से साइन कराए थे. इसी तरह माधुरी की डिमांड बढ़ने लगी और वह फ्लॉप एक्ट्रेस से हिंदी सिनेमा जगत की नंबर वन एक्ट्रेस बन गई.

ये भी पढ़ेंः- 20 साल बड़े एक्टर ने बेकाबू होकर काटे थे माधुरी दीक्षित के होंठ, निर्देशक ने दिए थे 1 करोड़ रुपये