Monday, January 18, 2021
Home मनोरंजन जानिए क्यों नहीं अपना जन्मदिन मनाते हैं धर्मेंद्र, पिता के 1 खत...

जानिए क्यों नहीं अपना जन्मदिन मनाते हैं धर्मेंद्र, पिता के 1 खत के साथ हर सुबह करते हैं ये काम

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता धर्मेन्द्र (Dharmendra) का जन्मदिन है आज उन्होंने अपनी लाइफ के 85 साल पूरे कर लिए हैं। धर्मेंद्र 8 दिसंबर, 1935 को नसराली, लुधियाना (पंजाब) में जन्म लिया और उनकी छवि भले ही माचो-मैन की तरह रही है मगर अपनी निजी जिंदगी में वे बहुत ही इमोशनल हैं। क्या आप जानते हैं उनके जन्मदिन के अवसर पर उनसे कोई संपर्क नहीं कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे अपना फोन स्विच ऑफ कर लेते हैं। असल में, धर्मेंद्र अपना जन्मदिन कभी नहीं मनाते। अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा इसलिए है कि वे बूढ़े हो गए हैं, बल्कि ऐसा नहीं है धर्मेंद्र को अपनी मां की बहुत याद आती है। 6 साल पहले उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था- “जब मुझे जन्म देने वाली ही इस दुनिया में नहीं है तो फिर किस बात का मैं जन्मदिन मनाऊं।”

इसे भी पढ़ें:- मालदीव में सोनाक्षी सिन्हा ने जानिए क्यों कहा- सोना जल की रानी है

<p>धर्मेंद्र के मुताबिक, जब वो एक्टर नहीं बने थे तो कॉलेज टाइम में जालंधर के संत सिनेमा में फिल्में देखने जाया करते थे। यहीं फिल्में देख-देख कर हीरो बनने का कीड़ा जागा। संत सिनेमा 11 साल पहले तब बंद हो गया, जब सुसाइड के एक मामले में यहां झगड़ा हुआ। अब तो इसकी बिल्डिंग भी खस्ताहाल हो चुकी है।<br />
&nbsp;</p>
मिली जानकारी के अनुसार धर्मेंद्र अपने पिता का दिया एक खत अपने साथ रखते हैं और हर सुबह उसे चूमकर माथे से जरूर लगाते हैं। उन्होंने कहा- मैं बहुत इमोशनल हूं। मैं अपने माता-पिता के बगैर जन्मदिन नहीं मना सकता। मैं उनसे प्रार्थना करता हूं कि वे मुझे एक अच्छा इंसान बनने में मेरी सहायता करें। मुझे इतनी शक्ति दें कि मैं औरों को खुश रख सकूं। मैं लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखना चाहता हूं।

<p>बॉलीवुड में यह धर्मेंद्र का 62वां साल है। उन्होंने 1958 में फिल्म 'दिल भी तेरा हम भी तेरे' से डेब्यू किया था। अपने 6 दशक लंबे करियर में धर्मेन्द्र ने करीब 270 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>
इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, बॉलीवुड में मेरा 62वां साल है। जब वो अभिनेता नहीं बने थे तो कॉलेज टाइम में जालंधर के संत सिनेमा में फिल्में देखने जाया करते थे। यहीं फिल्में देख-देख कर हीरो बनने का सपना देखा। संत सिनेमा 11 साल पहले तब बंद हो गया, जब सुसाइड के एक मामले में यहां झगड़ा हुआ। अब तो इसकी बिल्डिंग भी ख़राब हो चुकी है। उन्होंने 1958 में फिल्म ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे’ से बॉलीवुड में कदम रखा था। अपने लंबे करियर में धर्मेन्द्र ने तक़रीबन 270 से अधिक फिल्मों में काम किया है।

<p>फिल्मों के प्रति अपने लगाव को जाहिर करते हुए धर्मेंद्र कहते हैं- मुझे हमेशा महसूस होता है, जैसे मैं एक न्यूकमर हूं, जो एक संदेश मिलने के बाद बॉम्बे आया और एक्टर बन गया। मैं कैमरे को फेस करने के लिए हमेशा उत्साहित रहता हूं। हालांकि, अच्छी स्क्रिप्ट देखकर ही मैं काम करता हूं। यह मेरी जिंदगी का सपना था कि मैं एक्टर बनूंगा और लंबे समय तक काम करूंगा।</p>
धर्मेंद्र कहते हैं- मुझे हमेशा ही महसूस होता है, जैसे मैं एक न्यूकमर हूं, जो एक संदेश मिलने के बाद बॉम्बे आया और एक्टर बन गया। मैं कैमरे को फेस करने के लिए हमेशा उत्साहित रहता हूं। हालांकि, अच्छी स्क्रिप्ट देखकर ही मैं काम करता हूं। यह मेरी जिंदगी का सपना था कि मैं एक्टर बनूंगा और लंबे समय तक काम करूंगा।

<p>एक्टर बनने के सपने के बारे में धर्मेंद्र कहते हैं- मैं एक स्कूल टीचर का बेटा था, जिसकी यह इच्छा थी कि वह एक्टर बने। मैं सिर्फ एक फिएट कार, एक फ्लैट और खुद को फिल्मों के पोस्टर में देखना चाहता था और आज नाइजीरिया और ट्यूनीशिया से भी फैंस मुझे बुलाते हैं।</p>
धर्मेंद्र ने आगे बताया- मैं एक स्कूल टीचर का बेटा था, जिसकी यह इच्छा थी कि वह एक्टर बने। मैं केवल एक फिएट कार, एक फ्लैट और खुद को फिल्मों के पोस्टर में देखना चाहता था और आज नाइजीरिया और ट्यूनीशिया से भी मेरे फैंस मुझे बुलाते हैं और मेरा स्वागत करते हैं।

<p>ये वाकई ताज्जुब की बात है कि बॉलीवुड में धर्मेंद्र के छः दशक पूरे हो चुके हैं, लेकिन आज भी काम को लेकर उनमें वही उत्साह, वही जुनून है। आज भी उनका शरीर किसी रॉकस्टार से कम नहीं है। खुद को फिट रखने के लिए धर्मेन्द्र रोज एक्सरसाइज, योगा और प्राणायाम करते हैं, साथ ही डाइट पर भी पूरा ध्यान देते हैं।</p>
धर्मेन्द्र का अब अधिक समय लोनावाला स्थित उनके फॉर्महाउस में ही बीतता है। उनके फॉर्म हाउस में रॉक गार्डन और फलों के पेड़ हैं और साथ ही कई भैसें भी हैं। उन्होंने गाय का दूध निकालते समय की फोटो और अपने पालतू डॉग के साथ खेलते हुए की फोटोज भी शेयर की हैं।

<p>इतना ही नहीं, उनके फार्महाउस के आसपास पहाड़ और झरने हैं। साथ ही उनकी अपनी 1000 फीट गहरी झील भी है। एक इंटरव्यू के दौरान धर्मेंद्र ने कहा था, "मैं जाट हूं और जाट जमीन और अपने खेतों से प्यार करता है। मेरा ज्यादातर समय लोनावाला स्थित अपने फार्म हाउस पर ही बीतता है। हमारा फोकस ऑर्गेनिक खेती पर है, हम चावल और सब्जियां उगाते हैं।"</p>
इंटरव्यू में धर्मेंद्र ने बताया था, “मैं जाट हूं और जाट जमीन और अपने खेतों से प्यार करता है। मेरा ज्यादातर समय लोनावाला स्थित अपने फार्म हाउस पर ही बीतता है। हमारा फोकस ऑर्गेनिक खेती पर है, हम चावल और सब्जियां उगाते हैं।”

इसे भी पढ़ें:- हेमा मालिनी ने की थी चार बच्चों के पिता से शादी, धर्मेंद्र संग रहने के लिए किया धर्म-परिवर्तन

Most Popular