Categories
मनोरंजन

पहले निकाह के बाद लगी गंदी लत, फिर गुरु की बेटी को ही दिल दे बैठे थे जावेद अख्तर

बॉलीवुड की चमकती दुनिया की शान अलग ही है. इस चमक-धमक वाली दुनिया में कई रिश्ते बनते हैं तो कई बिगड़ते हैं. कुछ सितारों की रियल लाइफ की कहानी ऐसी होती है जिसे जानने के बाद लोग उसे फिल्मी बताने लगते हैं. पर्दे पर तो आपने इश्क के रंग खूब देखे होंगे. ऐसी भी कहानियां देखी होंगी जिनका प्यार उनके पहले रिश्ते पर भारी पड़ा होगा और फिर पहली कहानी का दुखद अंत और दूसरी कहानी की शानदार शुरूआत हुई होगी. कुछ ऐसा ही रिश्ता है जावेद अख्तर और शबाना आजमी का जो आज से 38 साल पहले बना था. पर ये रिश्ता तब बना जब जावेद ने अपनी पहली पत्नी हनी ईरानी को तलाक दिया या कहें कि, धोखा.

17 साल की लड़की से पहली शादी
शबाना आजमी और जावेद अख्तर का रिश्ता बहुत से पड़ावों से गुजरा लेकिन, आखिर में इन्हें प्यार हासिल हो ही गया. तभी तो दोनों 38 सालों से साथ हैं. पर इनके प्यार की नींव एक टूटे रिश्ते पर रखी गई थी. जी हां, जावेद साहब ने 17 साल की लड़की हनी ईरानी से निकाह कर लिया था जो स्क्रिप्ट राइटर और एक्ट्रेस थीं.javed akhtar wife honey irani जब जावेद ने शादी की तब वह इंडस्ट्री में पैर जमाने की कोशिश कर रहे थे कि, तभी फिल्म जंजीर रिलीज हुई जिससे जावेद को न सिर्फ स्टारडम हासिल हुआ बल्कि मुफ्त में एक लत का शिकार हो गए.

फिल्म सफलता के बाद बुरी लत के शिकार
जंजीर फिल्म में मिली सफलता को हासिल करने के बाद जावेद साहब को शराब की बुरी लत गई. भले जावेद एक्टिंग में आए लेकिन, दिल में तो शायरी बसती थीं और शराब के नशे में चूर अक्सर वह जाने-माने शायर कैफी आजमी जिन्हें वह अपना गुरु भी मानते थे उन्हें अक्सर अपने दिल का हाल बताने जाया करते थे और यहीं से उन्हें उनकी शबाना मिली. इसकी खबर जब परिवार और पत्नी को लगी तो बात बिगड़ने लगी. घर में लड़ाईयां होने लगी. क्योंकि, जावेद शादीशुदा होने के साथ-साथ दो बच्चों के पिता भी थे.

पत्नी ने ही कर दिया त्याग
जावेद और शबाना की बढ़ती नजदीकियों के बीच हनी अक्सर गुमसुम रहने लगी. उन्हें महसूस होने लगा था कि, अब जावेद के दिल में उनके लिए कोई प्यार नहीं है. हालांकि, उन्होंने रिश्ता बचाने की काफी कोशिश की पर जब नहीं बनी तो हनी ने त्याग कर दिया और जावेद को शबाना के पास जाने के लिए कह दिया. इसी के साथ हनी ने कह दिया कि वह बच्चों की जिम्मेदारी खुद ही लेगी.

आखिरकार मिल गई मंजिल
उतार-चढ़ाव और बहुत से तूफानों का सामना करने के बाद जब बात शादी तक पहुंची तो शबाना की मां ने जावेद से शादी करने के लिए इनकार कर दिया. पर किसी तरह उन्हें भी मनाया गया और कैफी साहब तो पहले से ही जावेद को पसंद करते थे इसलिए उन्होंने भी हां कर दी javed love storyऔर 9 दिसंबर 1984 में जावेद और शबाना हमेशा के लिए एक हो गए. 38 साल बाद भी दोनों एक-दूजे से बेहद प्यार करते हैं और सम्मान करते हैं.

ये भी पढ़ेंः- पत्नी और दोस्त से मिला धोखा, फिर इस दिग्गज खिलाड़ी की खूबसूरती पर क्लीन बोल्ड हुए दिनेश कार्तिक