Home मनोरंजन जावेद अख्तर ने अयोध्या फैसले पर मुस्लिमों के लिए कही बड़ी बात,...

जावेद अख्तर ने अयोध्या फैसले पर मुस्लिमों के लिए कही बड़ी बात, 5 एकड़ जमीन के लिए दी सलाह

0
931
javed_akhtar

सुप्रीम कोर्ट (supreme court )ने सालों पुराने अयोध्या केस पर 9 नवंबर को अपना आखिरी फैसला सुनाया है। इस दिन को भारत के इतिहास में हमेशा एक नए अध्याय के रूप में याद किया जाता रहेगा। कोर्ट ने जहां विवादित जमीन को भगवान राम को दे दी। तो वहीं मुस्लिमों को कोर्ट ने 5 एकड़ जमीन देने के आदेश दिए हैं। जब से कोर्ट की तरफ से फैसला आया है तभी से इस पर कई बड़ी हस्तियों ने अपनी-अपनी राय रखी है। बात अगर गीतकार और लेखक जावेद अख्तर (javed akhtar) की करें तो उन्होंने भी इस मामले पर अपनी राय रखी है साथ ही मुस्लिमों को 5 एकड़ जमीन पर अस्पताल बनाने की सलाह दी है। जावेद अख्तर ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए कहा है कि, “यह वाकई में अच्छा होगा, अगर मुआवजे के रूप में 5 एकड़ जमीन पाने वाले लोग उस भूमि पर एक बड़ा अस्पताल बनाने का फैसला करते हैं जो सभी समुदायों के लोगों द्वारा प्रायोजित और समर्थित हो।”

सलमान के पिता ने भी दी प्रतिक्रिया
जहां एक तरफ इस मामले पर बॉलीवुड हस्तियों ने फैसले का स्वागत किया है तो वहीं सलमान खान (Salman khan) के पिता सलीम खान (salim khan) ने भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है उन्होंने मुस्लिमों से अपील करते हुए कहा है कि, 5 एकड़ जमीन पर स्कूल या अस्पताल बनाना चाहिए, वह बोले कि, नमाज तो कहीं भी पढ़ी जा सकती हैँ। लेकिन, मेरा मुस्लिम भाइयों से अनुरोध है कि, ‘मोहब्बत जाहिर करिए और माफ करिए, इस मुद्दे को फिर मत कुरेदिये, अब वक्त आगे बढ़ने का है, आगे बढ़िए।’ सलमीन खान ने IANS को इंटरव्यू देते हुए ये भी कहा कि, अयोध्या फैसले के बाद जिस तरह देश के लोगों ने शांति और सौहार्द की मिसाल कायम की है वह वाकई काबिल-ए-तारीफ है। पर अगर 5 एकड़ जमीन पर स्कूल बनता हो तो इससे 22 करोड़ मुस्लिम युवाओं को शिक्षा मिलेगी तो देश की बहुत सारी समस्याएं दूर हो जाएंगी। अपनी बात को खत्म करते हुए आखिर में उन्होंने कहा कि, मैं देश की सर्वोच्च अदालत के फैसले को दिल से स्वीकार करता हूं और सम्मान करता हूं। ये भी पढ़ेंः- राम मंदिर फैसले पर सलमान के पिता ने मुस्लिम भाइयों से की अपील, 5 एकड़ जमीन पर कही ऐसी बात

Loading...

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here