16 साल की उम्र में घर से भाग गई थीं आशा भोसले, ससुरालवालों से तंग आकर छोड़ था पति का घर

69
asha news

फिल्मी जगत की सुपरहिट सिंगर आशा भोसले ने हजारों गानों को अपनी सुरीली आवाज दी हैं। उनके गाने फैंस के बीच जादू का काम करते हैं या यूं कहें की आशा भोसले के नाम से ही उनके गाने सुपरहिट हो जाते थे। उन्होंने हिंदी के अलावा मराठी, बंगाली, पंजाबी, भोजपुरी, तमिल, मलयालम, अंग्रेजी और रूसी भाषा के गानों को अपनी सुरीली आवाज दी हैं लेकिन आशा भोसले जितना अपनी गायकी के लिए फैंस के बीच चर्चाओं मे रहती थीं। उतनी ही चर्चाएं उनकी निजी जिंदगी पर होती थीं क्योंकि आशा भोसले ने भी अपने जीवन और लवलाइफ में काफी संघर्स देखा हैं और आज हम आपको आशा भोसले की लवलाइफ के कुछ किस्से बताते हैं। जिसे सुनकर आज हैरान रह जाएंगे।

10 साल की उम्र में शुरू किया गाना
आशा भोसले स्वर कोकिला लता मंगेशकर की छोटी बहन और मशहूर क्लासिक सिंगर दीनानाथ मंगेशकर की छोटी बेटी हैं। जिस तरह दीनानाथ मंगेशकर और लता मंगेशकर ने म्यूजिक की दुनिया में अपना लोहा मनवाया हैं। उसी तरह आशा भोसले का नाम का भी म्यूजिक जगत में काफी बड़ा हैं। आशा भोसले ने अपने पिता के निधन के बाद गाना शुरू किया। उस दौरान उनकी उम्र महज 10 साल की थीं। उन्होंने साल 1948 में बॉलीवुड में डेब्यू किया। इस दौरान उनका पहला गाना ‘सावन आया रे’ था। ये गाना फिल्म ‘चुनरिया’ का था। यह गाना कोरस में था। जिसे काफी पसंद किया गया। इस गाने में आशा भोसले के साथ जोहराबाई अंबालेवाली और गीता दत्त ने अपनी आवाज दी थीं।

ये भी पढ़ें:-इस लड़की की आवाज की दीवानी हुई लता मंगेशकर, Video शेयर कर लिखी दिल छू देने वाली बात

16 साल की उम्र में हुआ प्यार
आशा भोसले को महज 16 साल की उम्र में प्यार हो गया था। वह अपनी बड़ी बहन लता मंगेशकर के सचिव गणपतराव भोसले के दिल दे बैठी थीं। इस लवस्टोरी में दिलचस्प बात ये है कि आशा भोसले की उम्र अगर सिर्फ 16 साल थीं तो उस वक्त गणपतराव भोसले 31 साल के थे। जिस वजह से इन दोनों की शादी के लिए कोई भी तैयार नहीं था। घरवालों ने दोनों के रिश्ते के बारे में सुनते ही शादी के लिए साफ इनकार कर दिया। लेकिन आशा भोसले गणपतराव से बेहद प्यार करती थीं। इसी वजह से दोनों ने घर से भागने का फैसला किया। दोनों ने घर से भागकर शादी कर ली लेकिन ये रिश्ता ज्यादा नहीं चल पाया। शादी के कुछ समय बाद दोनों अलग भी हो गए।

20 साल अकेले काटी जिंदगी
आशा भोसले ने अपने एक इंटरव्यू में गणपतराव से शादी का जिक्र किया था लेकिन इस दौरान उन्होंने गणपतराव के परिवार पर मारपीट का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि ‘गणपतराव का परिवार हमारी शादी को स्वीकार नहीं कर पाया था। इसी वजह से उनका परिवार मेरे साथ मारपीट करने की कोशिश करता था। इसी वजह से मैं अपने घर वापस लौट आई। इसके बाद मैं कभी भी गणपतराव के घर नहीं गई’। यहां से इन दोनों का रिश्ता खत्म हो गया था। बता दें कि आशा भोसले ने जिस दिन पति गणपतराव का घर छोड़ा था तब वह प्रेग्नेंट थीं। जिस वजह से उन्होंने किसी से दूसरा रिश्ता नहीं जोड़ा। 20 साल तक अकेले रही और अपने बच्चे की परवरीश की।

ये भी पढ़ें:-लता मंगेशकर और आशा भोसले के बीच कभी नहीं हुई संगीत से जुड़ी कोई बात, जानें क्या है वजह

आरडी बर्मन से हुई शादी
हालांकि, 20 साल बाद आशा ताई की जिंदगी में राहुल देव बर्मन (पंचमदा) आए। दोनों ने साल 1980 में शादी कर ली। लेकिन ये शादी भी काफी सुर्खियों मे रही, क्योंकि पंचमदा आशा भोसले से छोटे थे। शादी के दौरान आशा 47 साल की थी और राहुल 41 साल के थे। जिस वजह से हर किसी का ध्यान इस शादी पर गया। हालांकि राहुल देव बर्मन से शादी के बाद आशा भोसले के पास अपना पूरा परिवार था। जिसमें पति और बच्चों का प्यार था लेकिन शादी के 14 साल बाद पंचमदा की मौत हो गई। जिसके बाद आशा ताई फिर अकेली हो गई। आशा भोसले के 3 बच्चे है। दो बेटे हेमंत और आनंद और एक बेटी वर्षा है। वर्षा ने बतौर सिंगर, जर्नलिस्ट और राइटर अपना करियर बनाया, तो वहीं हेमंत फिल्म स्कोर कंपोजर हैं और आनंद फिल्म कंपोजर हैं।