Categories
मनोरंजन

नेपोटिज्म पर पहली बार खुलकर बोलीं आलिया की मां सोनी राजदान, सोशल मीडिया के जरिए कह दी ऐसी बात

बॉलीवुड इंडस्ट्री में सुशांत सिंह के आत्महत्या के बाद एक के बाद एक कई सवाल खड़े होने लगे हैं. साथ ही अब एक बहस तेजी से नेपोटिज्म को लेकर हो रही है. सोशल मीडिया से लेकर न्यूज चैनलों पर भी इन दिनों भाई-भतीजावाद को लेकर बातें हो रही है. काफी लोगों का ये मानना है कि सुशांत की मौत के पीछे नेपोटिज्म बड़ा कारण रहा है. इस बीच इंडस्ट्री इन दिनों दो साइड में बंट गई है. कई स्टार्स खुलकर बॉलीवुड में हो रहे भाई-भतीजावाद पर अपनी राय रख रहे हैं. तो वहीं कई स्टार्स ऐसे हैं, जो नेपोटिज्म के सवालों से परेशान हो चुके हैं. इसके चलते उन्होंने या तो अपना सोशल अकाउंट बंद दिया है या फिर कमेंट ऑप्शन को ही हटा दिया है. इसमें एक्ट्रेस आलिया भट्ट का नाम भी शामिल है. जो सुशांत की मौत के बाद से जमकर ट्रोल हो रही थीं. इसी बीच नेपोटिज्म को लेकर छिड़े विवाद के बीच आलिया भट्ट की मां सोनी राजदान (Soni Razdan) ने सोशल मीडिया पर एंट्री मारी है.

ये भी पढ़ें:- जब शाहरूख के गाने पर सुशांत ने डांस कर जीता था धक-धक गर्ल का दिल, अब वायरल हुआ डांस, देखें VIDEO

दरअसल नेपोटिज्म पर सोनी राजदान (Soni Razdan) पहली बार इस तरह खुलकर सामने आई हैं. साथ ही जितने लोग इस पर सवाल खड़े कर रहे हैं, उन पर तंज कसते हुए उन्होंने तीखे शब्दों से वार किया है. बता दें कि सोनी राजदान ने फिल्म निर्माता हंसल मेहता के नेपोटिज्म पर उठाए गए उन्हीं सवालों का जवाब दिया है, जिसे लेकर उन्होंने ट्विटर पर कई ट्वीट किए थे. ऐसे में सोनी राजदान ने भी अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘किसी फेमस व्यक्ति का बेटा या बेटी होने पर लोगों को आपसे बहुत सी उम्मीदें बढ़ जाती हैं. ये भी है कि आज जो भाई-भतीजावाद के बारे में बोल रहे हैं उनके खुद के भी एक दिन बच्चे होंगे और अगर वे इंडस्ट्री में शामिल होना चाहते हैं तो क्या वे उन्हें ऐसा करने से रोकेंगे?’

इसके आगे हंसल मेहता के सवालों का समर्थन करते हुए आलिया की मां ने लिखा कि, ‘कुछ लोगों को निशाने पर लेते हुए इस बहस को छोटा कर दिया गया है. भाई-भतीजावाद खत्म होने से पहले हमें पाखंड और निहित स्वार्थ प्रचार को कम करने की दिशा में काम करना चाहिए. बुली करना बंद होना चाहिए.’ आपको बता दें कि कुछ दिन पहले फिल्म निर्देशक हंसल मेहता अपने सोशल अकाउंट के जरिए कई ट्वीट किए थे. जिसमें उन्होंने लिखा था कि, नेपोटिज्म से जुड़ी बहस और भी व्यापक स्तर पर होनी चाहिए. मेरिट सबसे ज्यादा देखी जाती है. मेरे बेटे को यदि इंडस्ट्री के भीतर कदम रखने दिया गया मेरी वजह से. और क्यों नहीं. लेकिन वो सबसे अच्छे काम का अहम हिस्सा रहा है क्योंकि उसमें टैलेंट है, नियम का पक्का है, बहुत ज्यादा मेहनत करता है और उसमें भी मुझ जैसे गुण हैं. लेकिन ऐसा नहीं कि वो मेरा बेटा है.

उन्होंने एक और ट्वीट करते हुए आगे लिखा कि, वो फिल्में इसलिए नहीं बनाएगा क्योंकि मैं उन्हें प्रोड्यूस करूंगा. लेकिन इसलिए जरूर बनाएगा क्योंकि वो उस चीज के लिए डिजर्व करता है. वो अपना करियर सिर्फ तब बना पाएगा अगर वो सर्वाइव कर सकेगा. यदि ऐसा नहीं हुआ तो वह खुद अपना करियर बनाने वाला है न कि उसके पिता. मेहता ने ये भी लिखा कि, मेरी छाया का यदि उसको फायदा हो सकता है तो सबसे बड़ा नुकसान भी हो सकता है.

ये भी पढ़ें:- फिल्म MS Dhoni देखने के बाद ऐसा था सुशांत सिंह राजपूत का रिएक्शन, देखकर आप भी हो जाएंगे इमोशनल