chappak

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक रिलीज होने के बाद भी विवादों में फंसी हुई है। जहां एक तरफ दीपिका पादुकोण जब से जूएनयू पहुंची। तब से ही फिल्म का विरोध हो रहा है। तो वही एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की वकील अपर्णा भट्ट भी फिल्म के विरोध में दिल्ली हाईकोर्ट पहुंची। अपर्णा भट्टा ने फिल्म छपाक को पर रोक लगाने की मांग की थी। जिस पर अब दिल्ली हाईकोर्ट का बड़ा फैसला आया है। दिल्ली हाईकोर्ट ने छपाक की फिल्म पर रोक लगाने का फैसला लिया है। छपाक फिल्म में लक्ष्मी अग्रवाल की वकील अपर्णा भट्ट को श्रेय नहीं दिया गया। जिस वजह से ही हाई कोर्ट ने दीपिका की फिल्म पर ही रोक लगाने का फैसला लिया है। जिसके बाद अब आने वाले दिनों में फिल्म को बहुत बड़ा झटका लगने वाला है।

इससे पहले हाईकोर्ट ने फिल्म छपाक के फिल्म निर्माताओं को वकील अपर्णा भट को श्रय देने का निर्देश दिया था। जिसके बाद फॉक्स स्टार स्टूडियों ने भी कोर्ट के इस फैसले को चुनौती दी। और याचिका दायर की। इस याचिका की सुनवाई में शुक्रवार को हाईकोर्ट ने दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक के निर्माताओं से ही सवाल भी किया था। जिसमें पूछा गया था कि एसिड हमले की पीड़िता लक्ष्मी अग्रवाल की वकील को उनसे ली गई जानकारी के लिए श्रेय क्यों नहीं दिया गया? और फिर से ही वकील अपर्णा भट्ट को श्रेय देने की बात कही।

हालांकि कोर्ट के इस फैसले के बाद इस मल्टीप्लेक्स 15 जनवरी से और लाइव स्ट्रीमिंग जैसे प्लेटफॉर्म 17 जनवरी से प्रभावित होंगे। बता दें कि फिल्म छपाक शुक्रवार को देशभर में रिलीज हो गई है। इस फिल्म ने पहले दिन ही अच्छा कलेक्शन किया। फिल्म ने पहले दिन 5 करोड़ का कलेक्शन किया है और माना जा रहा है कि आने वाले वीकेंड में फिल्म का कलेक्शन बढ़ सकता है लेकिन कोर्ट के इस फैसले से फिल्म पर क्या असर पड़ता है और निर्माताओं का क्या रिएक्शन होता है? ये देखना होगा। ये भी पढ़ें:-दीपिका पादुकोण के समर्थन में मध्यप्रदेश सरकार, फिल्म chapak के लिए करेगी सम्मानित