नई दिल्ली। एनपीएस (राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली) में अगर आप रोजाना के 50 रुपये बचाकर भी लगाते हैं तो रिटायरमेंट के वक्त आपको 34 लाख रुपये मिलेंगे। इसमें निवेश बिल्कुल आसान और कम जोखिम वाला है, हालांकि NPS एक मार्केट लिंक्ड निवेश है। बता दें कि सभी नागरिकों को सेवानिवृत्ति आय प्रदान करने के उद्देश्य से 1 जनवरी, 2004 को राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) शुरू की गई थी। एनपीएस का उद्देश्य पेंशन सुधारों को स्थापित करना और नागरिकों में सेवानिवृत्ति के लिए बचत करने की आदत डालना है। शुरुआत में एनपीएस को नई सरकारी भर्तियों (सशस्त्र बलों को छोड़कर) के लिए पेश किया गया था।

NPS एक मार्केट लिंक्ड रिटायरमेंट ओरिएंटेड इनवेस्टमेंट विकल्प है। इस स्कीम के तहत NPS का पैसा आपको दो जगह निवेश होता है, इक्विटी यानी शेयर मार्केट और Debt यानी सरकारी बॉन्ड्स और कॉर्पौरेट बॉन्ड्स। NPS का कितना पैसा इक्विटी में जाएगा ये आप अकाउंट खोलने के दौरान ही तय कर सकते हैं। आमतौर 75 प्रतिशत तक पैसा इक्विटी में जा सकता है, इसका मतलब ये हुआ कि इसमें आपको PPF या EPF से थोड़े ज्यादा रिटर्न मिलने की उम्मीद रहती है।

मान लीजिए इस वक्त आपकी उम्र 25 साल है, अगर आप महीने का 1500 रुपये NPS में निवेश करते हैं, यानी एक दिन का 50 रुपया। 60 साल बाद रिटायरमेंट लेंगे, अगर ये मान लिया जाए तो आप लगातार 35 सालों तक इसमें निवेश करेंगे, अब मान लीजिए कि 10 परसेंट की दर से आपको रिटर्न मिला, तो जब आप रिटायर होंगे तो आपकी कुल पेंशन वेल्थ होगी 34 लाख रुपये। अब ये सारा पैसा आप एक साथ नहीं निकाल सकते, इसका 60 परसेंट ही निकाल सकते हैं, बाकी का 40 परसेंट आपको एन्यूटी प्लान में डालना होता है, जिससे आपको हर महीने पेंशन मिलती है, मान लीजिए आपने 40 परसेंट पैसा एन्यूटी में डाल दिया, तो आप एकमुश्त रकम 20.51 लाख रुपये निकाल सकेंगे और मान लिया जाए की इंटरेस्ट 8 परसेंट है, तो हर महीने पेंशन 9 हजार रुपये मिलेगी वो अलग।

इसे भी पढ़ें:योगी सरकार का बड़ा फैसला : शिक्षा मित्रों, रोजगार सेवकों, चौकीदारों, आशा व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के मानदेय में जल्द होगी बढ़ोत्‍तरी