FUEL

आम जनता देश में लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों से परेशान हो चुकी है। अब इस बारे में वरिष्ठ अर्थशास्त्री और अर्थक्रांति के जनक अनिल बोकिल (anil bokil) ने बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों के बारे में कहा कि ये लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। महंगाई का सूचकांक लगातार बढ़ चुका है। इससे मुक्ति पाने के लिए सरकार सेंट्रल टैक्स समाप्त कर कोरोना काल में बैंक ट्रांजेक्शन चार्ज (बीटीसी) ले तो टैक्स वसूलने के बाद भी पेट्रोल के दाम 40 रुपये प्रति लीटर हो जाएंगे। बता दें कि यह प्रस्ताव अर्थक्रांति ट्रस्ट की ओर सरकार को भेजा जा चुका है।

एबी फाउंडेशन की तरफ से वरिष्ठ अर्थशास्त्री और अर्थक्रांति के जनक अनिल बोकिल कोविड की दूसरी लहर के उपरांत भारतीय व्यवस्था अर्थव्यवस्था का पुनरुद्धार विषयक वेबिनार का संबोधन कर रहे थे। संबोधन में उन्होंने कहा था कि सरकार कोविड काल में बीटीसी पर विचार करे तो इससे सरकार को छह लाख साठ हजार करोड़ का राजस्व मिल सकता है।

इस समय सरकार को केंद्रीकृत टैक्स लगाने से ढ़ाई लाख करोड़ ही प्राप्त होते हैं। आज की जो स्थिति है, उसमें एक सीमित समय के लिए बैंकों में जीरो प्रतिशत इंटरेस्ट लागू करना आज के समय की मांग हो चुकी है।

इस बारे में बात करते हुए राजनीतिक विचारक के एन गोविंदाचार्य ने कहा कि सरकार को अपने रिजर्व पॉलिसी पर अधिक से अधिक ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि देश में कृषि पर आधारित अर्थव्यवस्था की अब तक निंदा की गई है।

महंगाई रोकने के लिए सड़क पर उतरेगी सपा

बढ़ती महंगाई पर महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा ने कहा कि मूल्य वृद्धि पर भाजपा सरकार का नियंत्रण नहीं है। उन्होंने कहा कि बहुत हुई मन की बात, अब सुन तो लीजिए जनता की बात। भाजपा सरकार को बनारस के लोगों को धोखा देना छोड़ना होगा। वर्ना अब बनारस की जनता उनको अब जवाब देने के लिए तैयार है। उन्होंने चेतावनी दी है कि शीघ्र मंहगाई पर लगाम लगा दी जाए वर्ना लोगों को साथ लेकर सड़कों पर उतरेंगे।

इसे भी पढ़ें-Today Gold Silver Price: 10 ग्राम सोने की कीमतों में बदलाव, चांदी हुई सस्ती, अब भी 9 हजार रुपये सस्ता है Gold

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here