घरेलू गैस सिलेंडर के कनेक्शन धारकों को लगा झटका सिक्योरिटी में हुआ इजाफा, अब इतने रुपयों का करना होगा भुगतान

पेट्रोल कंपनियों की तरफ से एक बार फिर से सिलेंडर के सिक्योरिटी में इजाफा देखने को मिला है। आप कनेक्शन धारकों को 750 रुपए बढ़कर सिक्योरिटी देनी होगी। इसके अलावा रेगुलेटर पर भी दाम बढ़ाए गए हैं।

0
316

बढ़ती महंगाई के बीच एक बार फिर से एलपीजी गैस सिलेंडर वालों को झटका लगा है अबकी बार एलपीजी गैस सिलेंडर के ग्राहकों को नहीं बल्कि कनेक्शन धारकों को झटका लगा है। आपको बता दें पेट्रोल कंपनियों की तरफ से एक बार फिर से सिलेंडर के सिक्योरिटी में इजाफा देखने को मिला है। आप कनेक्शन धारकों को 750 रुपए बढ़कर सिक्योरिटी देनी होगी। इसके अलावा रेगुलेटर पर भी दाम बढ़ाए गए हैं।

घरेलू गैस कनेक्शन पर बनाए गए दाम

आपको बता दें गैस सिलेंडर के कनेक्शन धारकों को अब काफी महंगा कनेक्शन कराना पड़ेगा जो लोग कनेक्शन कराना चाहते हैं अब उनको बहुत बड़ा झटका लगने वाला है क्योंकि आज पेट्रोलियम कंपनियों ने सिक्योरिटी में इजाफा कर दिया है। एक सिलेंडर का कनेक्शन कराने के लिए आपको पहले 1450 रुपए देने होते थे लेकिन अब इसमें इजाफा हुआ है 750 रूपए इजाफा के साथ कनेक्शन धारकों को अब2200 रुपए देने होंगे अगर आप लोग दो सिलेंडर लेंगे तो उसके लिए आपको 4400 रुपए देने होंगे।14.2 किलोग्राम वजन वाले गैस सिलेंडर के कनेक्शन डार्को को 2200 कृपया भुगतान करना होगा। यह नियम 16 जून से लागू होने जा रहा है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना वाले अगर कनेक्शन पर डबल सिलेंडर करवाते हैं तो उन्हें बड़ी हुई सिक्योरिटी जमा करनी होगी अगर नया कनेक्शन कर आते हैं तो उन्हें वही सिक्योरिटी जमा करनी होगी जो पहले थी।

रेगुलेटर की सिक्योरिटी में हुआ इजाफा

आपको बता दें इसके अलावा एक लेटर सिक्योरिटी में भी इजाफा देखने को मिला है जब लेटर के सिक्योरिटी में 100 रुपए की बढ़त की गई है पहले 150 रुपए भुगतान करना होता था अब 250 रुपए का भुगतान करना होगा। पासबुक के लिए 25 रुपए देने होंगे और पाइप के लिए150 रुपए जमा करने होंगे। वही आपको बता दें 5 किलो सिलेंडर के लिए अब 800 रुपए के बजाए1150 रुपए की सिक्योरिटी जमा करनी होगी। वही आपको बता दे अगर आप लोग कनेक्शन करवाने जाते हैं तो टोटल रुपए आपको बिना चूल्हे के 3690 रुपया का भुगतान करना होगा चूल्हा लेने के लिए अलग से भुगतान करना होगा।

Read More-कानपुर हिंसा में शामिल पत्थरबाजों की लिस्ट तैयार करने में लगी पुलिस, सरकार की ओर से खत्म हुआ दाना पानी