देश की तीन बड़े सरकारी बैंकों ने घटाई ब्याज दरें, जानें ग्राहकों को कितना पहुंचा फायदा

56

देशभर में कोरोना का कहर अपने चरम पर है, जिसके चलते संपूर्ण भारत में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है। महामारी के इस दौर में देश की अर्थव्यवस्था भी चरमरा गई है। चूंकि पिछले छह महीने से लागू लॉकडाउन की वजह से लोगों की आवाजाही पर बिल्कुल ब्रेक से लग गया है, जाहिर सी बात है जब लोग अपने काम पर वापस लौटेंगे तो देश की अर्थव्यवस्था भी फिर से पटरी पर लौटेगी। बहरहाल कोरोना संकट के बीच देश की तीन बड़े सरकारी बैंकों ने ग्राहकों को बड़ी राहत दी है। बताया जा रहा है कि (PSU Bank) ने अपने ग्राहकों को राहत देते हुए लोन की ब्याज दरें घटाने का फैसला किया है। इन सरकारी बैंकों में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, यूको बैंक और इंडियन ओवरसीज बैंक शामिल है। चलिए जानते हैं बैंकों ने कितनी ब्याज दरें सस्ती की है। कहा जा रहा है कि बैंक आज से ही अपनी नई दरें लागू कर रही है।

बात करें यूको बैंक की तो यूको ने एमसीएलआर में ब्याज दरें 0.05 फीसदी कर दी है. बैंक ने एक बयान में कहा कि इसके बाद एक साल की अवधि वाले कर्ज पर दरें 7.40 फीसदी से घटकर 7.35 फीसदी पर आ गई है. यह कटौती अन्य सभी अवधि के लोन पर भी समान रूप से लागू होगी।

वहीं यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने प्रमुख लोन ब्याज दर (एमसीएलआर) में 0.05 फीसदी की कटौती की है. यह नई दरें शुक्रवार आज से लागू हो गई है. बैंक के मुताबिक, एक वर्ष की अवधि वाले कर्ज़ पर MCLR 7.25 फीसदी से घटाकर

7.20 फीसदी कर दिया है. ताकि ग्राहकों को लोन लेने में आसानी हो, इसी तरह एक दिन और एक महीने की अवधि के ऋण पर कटौती के बाद ब्याज दर 6.75 फीसदी हो गयी है।

एक और सरकारी बैंक इंडियन ओवरसीज बैंक ने भी एमसीएलआर में 0.10 फीसदी की कटौती की है. बैंक ने एक साल की अवधि वाले लोन पर ब्याज दर 7.65 फीसदी से घटाकर 7.55 फीसदी कर दी है. IOB की दरें गुरुवार से लागू की गई हैं।

ये भी पढ़ें:-मोदी सरकार ने किसानों को दिया बड़ा झटका, अब 7 दिन के अंदर वापस करना होगा बैंक से लिया हुआ लोन!