बड़ी ख़बर: जुलाई के अंत तक 55 हजार रूपए प्रति 10 ग्राम हो सकता है सोना..जानिए वजह 

0
103

कोरोना वायरस (Coronavirus) और लॉकडाउन (lockdown) के चलते पूरा वैश्विक बाजार (international market) थम सा चुका है। कल तक लोगों की आमद से गुलजार रहने वाले बाजार (market) अब वीरान हो चुके हैं। आर्थिक गतिविधियां ठप हो चुकी है। हर उद्योग अब थम जा चुका है। फिलहाल अनलॉक (unlock) के इस दौर में स्थितियों को दुरूस्त करने की दिशा में गति तेज हो चुकी है। वहीं अब इन सबके बीच बात अगर सर्राफा बाजारों (bullion market) की बात करें तो यहां पर भी लगातार स्थिति काफी गौर फरमाने लायक बनी हुई है। बताते चले कि वर्तमान में सर्राफा बाजारों में सोने की कीमत (price of gold) आसमान छू रहे हैं। मौजूदा समय में सोना 50 हजार प्रतिग्राम पर कारोबर कर रहा है और तो और संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में यह दाम 55 हजार रूपए प्रति 10 ग्राम पर भी पहुंच सकती है। आखिर क्या है? इसके आसमान जैसी कीमत छूने की वजह..जानने के लिए पढ़िए हमारी ये खास रिपोर्ट

ये भी पढ़े :Gold Futures Price: सोना हुआ सस्ता, चांदी की कीमतें भी तेजी से लुढ़की, जानिए क्या) रह गए 10 ग्राम सोने के रेट

निवेशकों (investor) का रूझान  
कोरोना काल (Corona era) में निवेशकों (investor) का रूझान सोने के निवेश (invest in Gold) पर ज्यादा ही तेजी से गया है, जिसके चलते शेयर मार्केट (Share market) में निवेश काफी घट चुका है, चूंकि अब ज्यादातर निवेशक यह सोचकर सोने पर निवेश कर रहे हैं कि उनका पैसा सुरक्षित रहेगा। जिसके चलते सोने के दामों में लगातार (hike in Gold price) बढ़ोतरी का सिलसिला बना हुआ है। साथ ही हांगकांग (Hongkong) पर चीन(China) की स्थिति और चीन और रूस (Russia) के रूख को देखते हुए भी लगातार सोने के दामों में इजाफे का सिलसिला जारी है। इतना ही नहीं संभावना तो अब यहां तक जताई जा रही है कि जुलाई 2020 के अंत तक सोने के दाम 55000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक जा सकते हैं।

सोने की कीमत (price of Gold)
वहीं इस संदर्भ में  India Bullion and Jewellers Association (IBJA) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पृथ्वीराज कोठारी का कहना है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के चलते ज्यादातर निवेशक सोने में अपना पैसा लगा रहे हैं, जिसके चलते लगातार सोने की कीमतों मेंं तेजी देखी जा रही है। फिलहाल स्थिति कब दुरूस्त होगी। इसे लेकर कुछ भी कहना मुश्किल है। इस आर्थिक संकट को मद्देनजर रखते हुए अमेरिका सहित कई अन्य देश भी अब नोट छापकर अपनी आर्थिक स्थिति दुरूस्त करने में जुट चुके हैं। जिसके चलते भी लगातार सोने के दामों में तेजी देखी जा रही है। इस सभी स्थितियों के दृष्टिगत अब यह संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में यानी जुलाई माह के अंत तक सोने के दाम 55 हजार रूपए प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकते हैं।

अंतरराष्ट्रीय बाजार (international market)
इसके साथ ही घरेलू बाजार के साथ अंतरराष्ट्रीय  बाजारों में भी सोने के दाम में तेजी का सिलसिला बरकरार है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने के दाम लगातार 1,750 डॉलर प्रति आउंस के ऊपर बना हुआ है। वहीं अब हाजिर सोना 1,750 से 1,815 डॉलर प्रति आउंस के बीच कारोबार कर रहा है। ये भी पढ़े :लगातार तेजी के बाद सस्ता हुआ सोना, चांदी के भी फिसले रेट, फटाफट जानिए 10 ग्राम गोल्ड का रेट