मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, अब मिलेगा ग्राहकों को सस्ती कीमतों में सोना

0
1553
Loading...

मोदी सरकार अब अपने कार्यकाल के 100 दिन पूरे कर चुकी है। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के सभी नेता सरकार की उपलब्धियों को जनता-जनार्दन के समक्ष पेश कर रहे हैं, जिसमें सरकार ने धारा 370, तीन तलाक सहित कई अन्य मुद्दों का जिक्र किया है। मगर अब इन सबसे इतर ख़बर आ रही है कि मोदी सरकार एक नई योजना लेकर आई है, जिसके अन्तर्गत सोने की कीमतों में खासी कमी की जाएगी। जिससे लोगों में सोना खरीदने को लेकर रूझान बढ़ेगा। ये भी पढ़े :लता मंगेशकर के जन्मदिवस पर, मोदी सरकार का ये बड़ा तोहफा अब होगा लता के नाम

आखिर ये कौन-सी योजना है? 
बता दें कि सरकार ने निवेशकों को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए एक योजना का आगाज किया है। योजना का नाम है सॉवरेन गोल्ड बान्ड योजना के तहत घरेलू बाजार से भी कम कीमतों में सोना खरीदने का मौका मिलेगा। इतना ही नहीं, इस सोना में बिक्री होने पर आयकर विभाग के कर में भी छूट मिलेगी।आइए इस ख़बर को तफ़लीश से जानते हैं।

ये है निवेश करने की अवधि !
यहां पर हम आपको बता दें कि सरकार ने कम कीमतों में ग्राहकों को सोना उपबलब्ध करवाने के लिए निवेश की अवधि भी तय की है। सरकार ने 9 से 14 सितंबर तक के लिए निवेश की अवधि तय की है। यानी को ग्राहकों को कुल 5 दिन का समय मिला है, निवेश करने का। आइए आगे हम जानने की कोशिश करते हैं कि निवेश करने के बाद सोने की कीमत क्या होगी ?

आखिर सोने की क्या कीमत होगी ?
आरबीआई ने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत कोई भी ग्राहक 3,890 प्रति ग्राम के हिसाब से सोना खरीद सकता है। इतना ही नहीं, अगर कोई इस योजना के तहत सोना खरीदेगा तो 50 रूपए प्रति ग्राम की छूट दी जाएगी। यानी की मतलब साफ, ऑनलाइन सोना खरीदने पर 3,840 रूपए ही देना होगा।

आयकर में मिलेगी छूट
गोल्ड बॉन्ड की परिपक्वता की अवधि 8 साल की होती है, जिस पर सालाना 8.5 फीसद का ब्याज मिलता है। बॉन्ड पर मिलने वाला ब्याज टैक्स स्लैब में आता है। लेकिन इस स्रोत पर कोई टीडीएस नहीं लगता है। वहीं, हर बॉन्ड पर 3 से 8 साल की अवधि पूरा होने के बाद बेच दिया जाता है। ये भी पढ़े :पाक का काल बनेगी ये मिसाइल, हवा में दुश्मन पर करेगी वार, मोदी सरकार ने दी मंजूरी

Loading...

अपनी राय दें