करना चाहते हैं बिजनेस, तो रेलवे के इस ऑफर का उठाएं फायदा, चंद दिनों में हो जाएंगे मालामाल 

51

अगर आप खुद का कारोबार करने का प्लान बना रहे हैं, तो यकीनन यह खबर आपके लिए बड़े ही काम की होगी। खासकर..उस समय जब आपको पैसों का अभाव हो तो ऐसी स्थिति में यह खबर आपके लिए बड़े ही काम की है। हम आपको बताते चले कि मिली जानकारी के मुताबिक, अब आप रेलवे के साथ मिलकर व्यापार करके अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं। बस.. इसके लिए आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में जानना होगा,  जो अभी हम आपको बताने जा रहे हैं। ये भी पढ़े :भारतीय रेलवे ने रचा अद्भुत इतिहास, मासूम बच्ची को बचाने के लिए चलाई 240 KM बिना रूके ट्रेन  

यहां पर हम आपको बताते चले कि आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत भारतीय रेलवे कम पूंजी वाले सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) को सहभागी बनने का मौका दे रही है। अगर आप रेलवे के इस ऑफर का फायदा उठाकर व्यापार करते हैं तो आप अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते है। अब आपने जेहन  में यह सवाल उठ रहा होगा कि ऐसा क्या करना है, जिससे की रेलवे के साथ व्यापार करके हम अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते  हैं । इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं बस… रेलवे को कुछ प्रोडक्ट बेचना होगा। रेलवे सालाना 70 हजार करोड़ रूपए का माल खरीदता है।  इसमें टेक्निकल (technical) और इंजीनियरिंग प्रोडक्ट्स  के साथ-साथ दैनिक जीवन में इस्तेमाल होने वाले वस्तुएं भी होती हैं, तो इस तरह से आप रेलवे  को प्रोडक्ट बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं। देखिए.. आमतौर पर ऐसा होता है कि आपको ग्राहकों की तलाश में भटकना होता, लेकिन यहां ऐसा नहीं होगा आप स्वत: रेलवे के पास जाकर अपना प्रोडक्ट बेच सकते हैं और अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं ।

तो किस तरह करें व्यापार  
वहीं, अगर अब आप हमारी इस रिपोर्ट को पढ़ने के बाद रेलवे के साथ व्यापार करने के लिए तैयार हैं तो हम आपको कुछ स्टेप्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद से आप रेलवे के साथ व्यापार कर सकते है। तो सबसे पहले आपको https://ireps.gov.in और https://gem.gov.in  की वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके बाद आप एक डिजिटल सिग्नेचर (digital signature) बनवाएं। इसकी मदद से आप रेलवे की https://ireps.gov.in और https://gem.gov.in वेबसाइट पर जा कर नए टेंडर देख सकेंगे।  लेकिन हां… एक बात ध्यान रहे कि टेंडर डालते समय अपनी लागत और लाभ का ध्यान रखें। इसके इतर आपके रेट कॉम्पिटेटिव (competitive rates) रहेंगे तो आपको टेंडर आसानी से मिल जाएगा। ये भी पढ़े :ट्रेन में सफर करना अब हो सकता है महंगा, भारतीय रेलवे ने उठाया ये बड़ा कदम