Restrictions on Sugar Exports: सरकार ने लिया बड़ा फैसला, चीनी खरीदारों को मिलेगी भारी राहत!

केंद्र सरकार ने चीनी के निर्यात पर 1 जून से पाबंदी लगा दी है इस फैसले के बाद घरेलू बाजार में चीनी की उपलब्धता पर काफी असर पडे़गा।

0
230
Restrictions on Sugar Exports

देश में महंगाई ने कमर तोड़ रखी थी महंगाई की वजह से हर आदमी की हालत खराब होती नजर आ रही थी लेकिन अब केंद्र सरकार आम जनता को थोड़ी राहत दे रही है पहले पेट्रोल डीजल एक्साइज ड्यूटी में कमी की और फिर खाने के तेल में के आयात पर कस्टम ड्यूटी खत्म कर दी जिसके बाद अब एक और बड़ा फैसला लिया है। जिससे आने वाले दिनों में चीनी खरीददारों को काफी राहत मिलने वाली है केंद्र सरकार ने चीनी पर बड़ा फैसला लिया है। केंद्र सरकार ने चीनी के निर्यात पर 1 जून से पाबंदी लगा दी है इस फैसले के बाद घरेलू बाजार में चीनी की उपलब्धता पर काफी असर पडे़गा। आपको बता दें इससे पहले केंद्र सरकार ने कई बड़े फैसले लिए हैं जिससे आम जनता को राहत मिली है।

निश्चित दायरे में किया जाएगा निर्यात

विदेशी व्यापार महानिदेशालय ने एक नोटिफिकेशन जारी किया है जिसमें कहा है, ‘चीनी का निर्यात 1 जून 2022 के प्रतिबंधित श्रेणी में रखा’। आपका बता दे नोटिफिकेशन में यह भी कहा गया है किCXL और TRQ के तहत अमेरिका और यूरोपीय संघ में निश्चित मात्रा में चीनी का निर्यात किया जाएगा इनका एक सीमित दायरा होगा। चीनी मौसम के दौरान घरेलू उपलब्धता और मूल्य तथा बनाए रखने के मकसद से 100 कैलेमिटी तक चीनी निर्यात की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है। यह नियम 1 जून 2022 से 21 अक्टूबर 2022 तक लागू रहेगा।

तेल के आयात पर कस्टम ड्यूटी की गई खत्म

आपको बता दें इससे पहले केंद्र सरकार ने सोयाबीन तेल के आयात कस्टम ड्यूटी खत्म करने का ऐलान किया है वही इसी के साथ में सूरजमुखी तेल के आयात पर भी कस्टम ड्यूटी खत्म की गई है। इससे खाने के तेलों की कीमत में सीधा असर पड़ेगा। जिससे आम जनता को थोड़ी राहत मिलेगी। रविवार को कम सरकार ने पेट्रोल डीजल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी को कम करने का एलान किया था। वैसे भी पिछले दिनों खाने-पीने से लेकर पेट्रोल डीजल तक की भारी इजाफा देखने को मिल रहा था।

Read More-आजम खान ने विधानसभा में ली शपथ, हंगामेदार होगा पहला बजट सत्र