Cheap gold

आज घरेलू बाजार में सोने की वायदा दाम में गिरावट दर्ज की गई है, वहीं चांदी के दाम सपाट रहे। एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.15 फीसदी फिसलकर 47,451 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। पिछले सत्र में यह एक माह के उच्च स्तर के लगभग पहुंच गया था। वहीं चांदी 65,261 रुपये प्रति किलोग्राम पर सपाट रही। पिछले सत्र में सोना 500 रुपये महंगा हुआ था और चांदी में 1900 रुपये की बढ़ोतरी हुई थी। पिछले साल के पीली धातु उच्चतम स्तर (56200 रुपये प्रति 10 ग्राम) से अब भी 8749 रुपये नीचे ही है।

ज्ञात हो कि भारत में सोने के दामों में 10.75 फीसदी आयात शुल्क और तीन फीसदी जीएसटी शामिल होता है। वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (डब्ल्यूजीसी) की रिपोर्ट के मुताबिक, इस वर्ष अप्रैल-जून तिमाही में भारत में सोने की मांग 19.2 फीसदी बढ़ी और यह 76.1 टन पर पहुंच गई। रिपोर्ट के अनुसार, दाम के लिहाज से भारत में सोने की मांग समीक्षाधीन अवधि में 23 फीसदी बढ़ी और यह 32,810 करोड़ रुपये हो गई। साल 2020 की समान अवधि में यह आंकड़ा 26,600 करोड़ रुपये था।

ज्यादा घटी सोने की मांग

देश की सोने की मांग बीते साल यानी 2020 में 35 फीसदी से ज्यादा घटकर 446.4 टन रह गई थी। यह जानकारी विश्व स्वर्ण परिषद (डब्ल्यूजीसी) की एक रिपोर्ट में दी गई। डब्ल्यूजीसी की 2020 की सोने की मांग के रुख पर रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना के कारण लागू लॉकडाउन और बहुमूल्य धातुओं की कीमत अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंचने के बीच सोने की मांग में गिरावट आई। साथ ही रिपोर्ट में कहा है कि अब स्थिति सामान्य हो रही है और साथ ही सतत सुधारों से उद्योग मजबूत हुआ है। ऐसे में इस साल 2021 में सोने की मांग में सुधार हो सकती है।

इसे भी पढ़ें:- लगातार 5 दिन बैंक में रहेगी बंदी, नहीं होगा कोई भी जरूरी काम, यहां चेक करें छुट्टियों की लिस्ट