नई दिल्‍ली। सोने के कारोबार में अधिकतर फायदे ही देखने को मिले हैं। निवेशक सोने को महत्वपूर्ण निवेश के रूप में मानते हैं। सोना निवेशकों को गुड रिटर्न्स मुहैया कराता है। अक्‍टूबर डिलीवरी का सोना आज 126 रुपए बढ़कर 47 हजार 295 रुपए प्रति 10 ग्राम पर खुला। जबकि दिसम्बर डिलीवरी के Gold के रेट 47 हजार 460 रुपए प्रति 10 ग्राम चल रहे थे। वहीं सितम्बर डिलीवरी की चांदी 96 रुपए बढ़कर 62 हजार 229 रुपए प्रति किलो बोली गई। इससे पहले गुरुवार को कमजोर हाजिर मांग के बीच सटोरियों ने अपने सौदों की कटान की, जिससे स्थानीय वायदा बाजार में सोने का भाव 218 रुपये की गिरावट के साथ 47 हजार 350 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर महीने की डिलिवरी के लिये सोने की कीमत 218 रुपये यानी 0.46 प्रतिशत की गिरावट के साथ 47,350 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। इसमें 12,185 लॉट के लिये कारोबार हुआ। कमजोर हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों के आकार को घटाया, जिससे वायदा कारोबार में बीते गुरुवार को चांदी की कीमत 69 रुपये की गिरावट के साथ 62 हजार 414 रुपये प्रति किलो रह गई। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में चांदी के सितम्बर डिलीवरी वाले वायदा अनुबंध का भाव 69 रुपये यानी 0.11 प्रतिशत की गिरावट के साथ 62,414 रुपये प्रति किलो रह गया।

इस वायदा अनुबंध में 10,411 लॉट के लिये सौदे किये गये। बता दें कि वायदा अनुबंध खरीदना अनिवार्य रूप से नकदी बाजार से स्टॉक की कई इकाइयों की खरीद के समान है। मौलिक अंतर यह है कि भविष्य खरीदने के मामले में, आप तत्काल वितरण नहीं लेते हैं। वैसे तो वायदा कुछ भी नहीं है, लेकिन एक वित्तीय अनुबंध जो खरीदार को एक सम्पत्ति या विक्रेता खरीदने के लिए बाध्य करता है एक पूर्व निर्धारित भविष्य की तारीख और एक पूर्व निर्धारित मूल्य पर एक सम्पत्ति बेचने के लिए। भारत में निवेशक नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर वायदा में व्यापार कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:घर पर बेकार पड़े Gold jewellery से कमाएं 2.50% ब्याज, जानें क्या है यह स्कीम