हर इंसान अपने भविष्य की सुरक्षा के लिए FD करवाता है, अगर आपने भी FD करवाई है तो ये खबर विशेष तौर पर आपके लिए ही हो सकती हैं. बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit/TermDeposit) के नियम में बड़े बदलाव किये जा रहे हैं. इसके अंतर्गत अब मैच्योरिटी के तिथि जब पूरी हो जाएगी उसके बाद आप इस राशि पर क्लेम नहीं करते हैं, तो आपको इसका ब्याज कम मिलेगा.

किसे कहते हैं फिक्स्ड डिपॉजिट

फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit), वो जमा राशि होती है जो कि बैंकों में एक निश्चित समयावधि के लिए एक निश्चित ब्याज पर रख दी जाती है. आरबीआई के हिसाब से अगर आपकी फिक्स्ड एफडी की अवधि पूरी हो जाने के बाद भी इस राशि का भुगतान नहीं हुआ हो और बिना क्लेम के ये राशि बैंक के पास पड़ी रहती है तो उस पर आपको FD नहीं बल्कि ‘बचत जमा पर देय’ ब्याज के हिसाब से ही ब्याज मिल पाएगा.

लाया गया नया सर्कुलर

आरबीआई द्वारा जो सर्कुलर जारी किया जा रहा है, इसमें बताया गया है कि इस नियम की समीक्षा की गयी, जिसके बाद ये फैसला लिया गया कि अगर फिक्स्ड डिपॉजिट मैच्योर होती है और उस जमा राशि का भुगतान नहीं हो पाता है और साथ इस पर दावा भी नहीं किया जाता है तो उस पर ब्याज दर बचत खाता वाली या सावधि जमा की मैच्योरिटी पर ब्याज की अनुबंधित दर, जो भी कम हो, वही देय होगी. बता दें कि RBI के बताए अनुसार नये नियम सभी वाणिज्यिक बैंकों, स्मॉल फाइनेंस बैंक, सहकारी बैंक, स्थानीय क्षेत्रीय बैंकों में जमा पर ही लागू किए जाएंगे.

एफडी पर मिलेगी लोन की सुविधा

इसी के साथ साथ FD पर लोन के साथ कई अन्य सुविधा भी मिल रही हैं. लेकिन अभी तक ये तय नहीं किया गया है कि लोन की रकम कितनी होगी. ये बैंक पर ही निर्भर करेगा. कुछ बैंक 85 फीसदी तो कुछ बैंक 90 से लेकर 95 प्रतिशत तक का लोन दे सकते हैं. इसी के साथ साथ कुछ बैंक स्पेशल एफडी ऑफर मिलेंगे. इसमें ग्राहकों को हेल्‍थ और लाइफ इंश्‍योरेंस जैसी सुविधाएं मिलती हैं. इसलिए लोगों को FD पर भरोसा होता है.

ये भी पढ़ें-इस लड़की के पास हैं दो प्राइवेट पार्ट, 18 साल तक रही अपनी बीमारी से अंजान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here