Monday, January 18, 2021
Home बिज़नेस ये राज्य सरकार दुल्हन को गिफ्ट में देगी सोना, शादी के पहले...

ये राज्य सरकार दुल्हन को गिफ्ट में देगी सोना, शादी के पहले ऐसे करें अप्लाई

शादी एक वैवाहिक परंपरा है जिसे भारत में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। गरीब से लेकर अमीर व्यक्ति चाहता है कि उसकी बेटी की शादी में कोई कमी न रहे। इस दौरान माता पिता गिफ्ट के तौर पर अपनी बेटियों के लिए सोने की ज्वैलरी (Gold Jewellery) देते हैं, हालांकि, कई गरीब माता पिता अपने बेटियों को शादी में सोना नहीं दे पाते हैं, लेकिन अब फिक्र करने की जरूरत नहीं है। असम सरकार (Assam Government) अब बेटियों को गिफ्ट के तौर पर सोना देगी, लेकिन इस गिफ्ट को पाने के लिए सरकार ने एक शर्त भी रखी है।

यह भी पढ़े- पत्रकारों पर भड़कीं कियारा आडवाणी, गुस्से में दे डाली सख्त चेतावनी, जानें क्या है पूरा मामला

क्या है शर्त
असम सरकार के इस गिफ्ट का फायदा उठाने के लिए आवेदनकर्ता को एक शर्त से गुजरना होगा। दरअसल, ये गिफ्ट उन्हीं लड़कियों को मिल सकेगा, जिनकी उम्र कम से कम 18 साल है, जबकि लड़के की उम्र 21 साल से कम नहीं हो चाहिए। गरीब बेटियों की शादी में सरकार 10 ग्राम सोना गिफ्ट करेगी। सरकार अरुंधति गोल्ड स्कीम (Arundhati Gold Scheme) के माध्यम के तहत सोना गिफ्ट कर रही है। सरकार ने ये स्कीम पिछले साल जारी की थी, उस वक्त सरकार गरीब माता पिता को 10 ग्राम सोना गिफ्ट करने के लिए 30 हजार रुपए देती थी क्योंकि उस समय 10 ग्राम सोना 30 हजार रुपए का था। हालांकि, अब भी ये स्कीम जारी है, और सरकार 30 हजार रुपए गरीब माता पिता को बेटियों को देने के लिए देती है।

कौन उठा सकते हैं लाभ
लड़की की उम्र 18 साल तक होने के साथ साथ वह 10वीं पास हो। इस योजना का फायदा उठाने के लिए लड़की के पिता की सलाना आय 5 लाख रुपए से कम होना चाहिए। इसके लिए आय प्रमाण की भी जरूरत पड़ सकती है। इस योजना का लाभ सिर्फ एक ही बार उठाया जा सकेगा। यानि की लड़की की पहली ही शादी में उसे स्कीम के तहत सोना मिलेगा। सरकार की इस स्कीम से राज्य में बाल विवाह पर रोक लगाई जाएगी। लोग सोना पाने के लिए अपने बेटियों की शादी जल्दी नहीं करेंगे, जिससे बाल विवाह पर रोक लगेगी।

ऐसे करें अप्लाई
लाभ उठाने के लिए शादी को स्पेशल मैरिज एक्ट 1954 के तहत रजिस्टर कराना होगा। अरुंधति गोल्ड स्कीम के तहत लाभ उठाने के लिए revenueassam.nic.in पर जाकर ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा। ऑनलाइन फॉर्म भरने के बाद इसका प्रिंटआउट निकालना होगा। ऑनलाइन के साथ-साथ प्रिंटआउट को भी जमा करना होता है। आपकी एप्लीकेशन मंजूर हुई या नहीं इसके बारे में आपको एसएमएस से पता चल जाएगा। हालांकि, दुल्हन को जेवरात नहीं दिए जाते हैं, यानी तोहफे में सोना फिजिकल फॉर्म में नहीं दिया जाएगा। शादी के रजिस्ट्रेशन और वेरिफिकेशन के बाद 30,000 रुपये दुल्हन के बैंक अकाउंट में जमा किए जाएंगे। उसके बाद दुल्हन के परिजनों द्वारा खरीदे गए 30 हजार रुपये के जेवरात के बिल जमा करने होंगे।

यह भी पढ़े- अकाउंट होल्डर्स के लिए बड़ी खबर, 1 जनवरी से बदल जाएगा बैंकों का ये नियम

Most Popular